West Bengal फर्जी टीकाकरण कांड: देवांजन के पास से कई सरकारी विभागों की मुहर मिली

- आरोपी विभिन्न सरकारी एजेंसियों को लिखता था पत्र

By: Ashutosh Kumar Singh

Published: 27 Jun 2021, 11:46 PM IST

कोलकाता

कोरोना वैक्सीन फर्जीवाड़ा कांड के आरोपी देवांजन देव के पास से पुलिस ने कोलकाता नगर निगम समेत विभिन्न सरकारी विभागों जैसे सूचना एवं संस्कृति विभाग, पीडब्ल्यूडी, डब्ल्यूबीएसईसी की बड़ी संख्या में मुहर मिली है। वह विभिन्न सरकारी एजेंसियों को पत्र लिखता था। उन पत्रों का जवाब भी खुद ही लिखता था।लोगों को फांसने के लिए उन पत्रों पर रसीद उक्त विभागों की मुहर लगाता था। इसकी जांच की जा रही है। पता लगाने का प्रयास किया है रहा है कि उक्त विभागों के किसी अधिकारी से कोई संबंध है अथवा नहीं।
-----
पुलिस ने ली घर की तलाशी
मामले की जांच के लिए गठित एसआईटी की टीम ने देवांजन को साथ लेकर रविवार शाम उसके घर की तलाशी ली। वहां से भी भारी मात्र में फर्जी दस्तावेज मिले हैं। पुलिस उनकी जांच का रही है।
---
दस कर्मचारियों को तलब किया
संयुक्त पुलिस आयुक्त (अपराध) मुरलीधर शर्मा ने बताया कि देवांजन के कार्यालय में काम करने वाले 10 कर्मचारियों को पूछताछ के लिए तलब किया गया है। इनमें से कुछ इस फर्जीवाड़े के खुलासा से पहले उसके यहां सा नौकरी छोड़ चुके हैं। सभी से पूछताछ कर उसके फर्जीवाड़े की जांच की जाएगी।
---
सीरम इंस्टीट्यूट को किया था मेल
शर्मा ने बताया कि पूछताछ में देवांजन ने बताया है कि उसने वैक्सीन के लिए सीरम इंस्टीट्यूट के अधिकारी को मेल किया था। उसने कोविशील्ड की मांग की थी, लेकिन उसे वैक्सीन नहीं मिली थी। उसके बयान की सत्यता की जांच की जा रही है।
देवांजन ने फर्जी कोरोना वैक्सीन के दो शिविरों के बारे में कबूल किया है। एक सिटी कॉलेज में और एक कस्बा में।
----
अब तक 8 बैंक खाते मिले
अब तक की जांच में देवांजन के 8 बैंक खातों के बारे में जानकारी मिली है। इनमें से एक उनकी कंपनी मेसेर्सडब्ल्यूबीएफआईएनसीओआरपी के नाम पर है। इस खाते के जरिए वह अपने कर्मचारियों को वेतन देता था।
---
रिश्तेदारों को भी नकली वैक्सीन
देवांजन ने परिचितों और कुछ रिश्तेदारों को भी कोरोना की नकली वैक्सीन दी है। देवांजन की बहन देवस्मिता की एक सहेली ने पुलिस को बताया है कि उसे भी देवांजन ने नकली वैक्सीन दी है।

COVID-19
Ashutosh Kumar Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned