भाजपा नेताओं के खिलाफ एफआईआर

भाजपा नेताओं के खिलाफ एफआईआर

Manoj Kumar Singh | Publish: Dec, 08 2018 11:16:41 PM (IST) | Updated: Dec, 08 2018 11:16:42 PM (IST) Kolkata, Kolkata, West Bengal, India

पुलिस का राजनीतिक इस्तेमाल कर रही तृणमूल -दिलीप घोष

 

पुलिस का आरोप है कि कलकत्ता हाई कोर्ट की खण्डपीठ की ओर से एकल पीठ के रथ यात्रा पर लगाए गए स्थागनादेश को खारिज किए जाने के बावजूद कोर्ट ने रथ यात्रा करने की अनुमति नहीं दी थी। इसके अलावा भाजपा को कूचबिहार में रथ यात्रा शुरू करने से पहले रैली करने की भी अनुमति नहीं दी गई थी। इसके बावजूद भाजपा नेताओं ने कूचबिहार में रथयात्रा निकाली और सभा की। इस लिए भाजपा नेताओं के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई।
कोलकाता

अनुमति नहीं होने के बावजूद कूचबिहार में रैली करने के आरोप में जिला पुलिस ने प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष और राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है। पुलिस का आरोप है कि कलकत्ता हाई कोर्ट की खण्डपीठ की ओर से एकल पीठ के रथ यात्रा पर लगाए गए स्थागनादेश को खारिज किए जाने के बावजूद कोर्ट ने रथ यात्रा करने की अनुमति नहीं दी थी। इसके अलावा भाजपा को कूचबिहार में रथ यात्रा शुरू करने से पहले रैली करने की भी अनुमति नहीं दी गई थी। इसके बावजूद भाजपा नेताओं ने कूचबिहार में रथयात्रा निकाली और सभा की। इस लिए भाजपा नेताओं के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई।दिलीप घोष और कैलाश विजयवर्गीय के अलावा पुलिस ने भाजपा के राष्ट्रीय सचिव राहुल सिन्हा और प्रदेश महासचिव राजू बनर्जी के खिलाफ भी एफआईआर दर्ज की है। पुलिस ने सभी भाजपा नेताओं पर बिना अनुमति के रैली करने के अलावा गैर कानूनी से एक जगह जमा हो कर कानून-व्यवस्था बिगाडऩा और पुलिस को घायल करने और अपराधिक गतिविधि चलाने का आरोप लगाया है। पुलिस की ओर से अपने खिलाफ एफआईआर दर्ज किए जाने पर प्रतिक्रिया देते हुए दिलीप घोष ने कहा कि इससे पता चलता है कि तृणमूल कांग्रेस
पुलिस का राजनीतिक फायदे के लिए कैसे इस्तेमाल करती है। ऐसे भी यह कोई नई बात नहीं है। हमे राज्य की तृणमूल कांग्रेस की सरकार और उसकी पुलिस से यही उम्मीद थी। पुलिस भाजपा नेताओं पर ऐसे मामले दर्ज करती रहती है।

Ad Block is Banned