महानगर कोलकाता में खुला पहला फूड एटीएम

एक तरफ देश में लगभग हर चौथे व्यक्ति को भरपेट खाना नहीं मिलता है, जबकि हर साल करीब ५० हजार करोड़ रुपए का खाना बर्बाद हो जाता

By: शंकर शर्मा

Published: 22 Aug 2017, 10:52 PM IST

कोलकाता. एक तरफ देश में लगभग हर चौथे व्यक्ति को भरपेट खाना नहीं मिलता है, जबकि हर साल करीब ५० हजार करोड़ रुपए का खाना बर्बाद हो जाता है। ऐसे में जरूरतमंदों को खाना खिलाने तथा खाना की बर्बादी रोकने के लिए कोलकाता में पहला फूड एटीएम गत १५ अगस्त को खोला गया।

सांझा चूल्हा रेस्तरां की पहल से सीआईटी रोड स्थित लेडिज पार्क के सामने फूड एटीएम खुला है। कोई भी जरूरतमंद इस फूड एटीएम से खाना निकालकर खा सकता है।

रेस्तरां के मालिक आसिफ अहमद ने बताया कि आमतौर पर रेस्तरां या होटल के बाहर हम ऐसे लोगों को पाते हैं जो खाना खरीदकर नहीं खा सकते हैं। संपन्न लोग भी खाना खाता हैं और बगैर उनकी मदद किए चल देते हैं। ऐसे में हम बचे हुए खाना से जरूरतमंदों का पेट भर सकते हैं।इसके म²ेनजर हमने फूड एटीएम खोलने का विचार किया। अभी एक जगह खुला है। बाद में इसका विस्तार किया जाएगा।

वीडियो देखकर मिली प्रेरणा
आसिफ अहमद ने बताया कि सोशल साइट पर वायरल एक वीडियो से उन्हें प्रेरणा मिली। दक्षिण भारत के एक शहर में रेस्तरां चलाने वाली महिला ने ऐसी पहल की थी। वीडियो देखने के बाद लगा कि ऐसा हम भी कर सकते हैं। अपने करीबी दोस्तों प्रकाश नाहटा, निर्मल बजाज, राहुल अग्रवाल से इस योजना को साझा किया और बातबन गई। एक बड़ा फ्रिज लाकर बचा हुआ खाना उसमें रखना शुरू किया। रेस्तरां के साथ आम लोगों को भी जागरूक करने की जरूरत है।

बड़े होटलों ने किया इन्कार
प्रकाश नाहटा ने बताया कि महानगर के बड़े होटलों ने फूड एटीएम लगाने के प्रस्ताव से इनकार कर दिया। उनकी दलील है कि इससे अव्यवस्था फैलेगी। होटल की छवि खराब होगी।

पड़ोसी रख रहे बचा हुआ खाना
रेस्तरां के कर्मचारियों का कहना है कि चंद दिनों में लोगों से अच्छी प्रतिक्रिया मिली है। सभी इस पहल से खुश हैं। आस पड़ोस के लोग भी बचा हुआ खाना इसमें रख रहे हैं। पार्क सर्कस के आस पास रहने वाले जरूरतमंद यहां खाना खा रहे हैं।

खुशी मिली
इस पहल से जुडक़र खुशी महसूस हो रही है। हम लोगों की मदद तो करना चाहते हैं पर उसका तरीका नहीं निकाल पाते। हम अपने नेटवर्क को पूरे कोलकाता में फैलाने का लक्ष्य लेकर काम चल रहे हैं।
प्रकाश नाहटा, संस्थापक सदस्य

शंकर शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned