मोबाइल टावर लगाने के नाम पर धोखाधड़ी करने वाला सेना का पूर्व कर्मी गिरफ्तार

- पांच राज्यों के सैकड़ों लोगों को लगा चुका है चूना

Vanita Jharkhandi

September, 1303:25 PM

Kolkata, West Bengal, India

 

साल्टलेक . मोबाइल टावर लगाने के नाम पर पश्चिम बंगाल समेत पांच राज्यों के सैकड़ों लोगों से करोड़ों रुपए की ठगी करने वाले सेना के एक पूर्व कर्मी को विधाननगर साइबर क्राइम थाने की पुलिस ने मंगलवार को गिरफ्तार किया। आरोपी का नाम प्रदीप सामाजदार उर्फ मिट्ठू है। प्रदीप ने पांच राज्यों में अलग-अलग तरीके से धोखाधड़ी करके करोड़ों रुपए की ठगी की है। सूत्रों के अनुसार मोबाइल टावर लगाने के नाम पर उसने यह ठगी की है। शिकायत मिलने पर पुलिस ने उसकी तलाश शुरू की थी। जांच करते हुए गत महीने में सेक्टर फाइव स्थित एक कार्यालय से पुलिस ने 3 महिला समेत 7 लोगों को गिरफ्तार किया था। उनसे पूछताछ करने पर रिटायर्ड वायु सेना कर्मी प्रदीप समाजदार का नाम सामने आया। इसके बाद पुलिस ने और गहराई से जांच शुरू की। तब पता चला कि बिहार, उड़ीसा, झारखंड, त्रिपुरा व बंगाल में उसने अपना आफिस खोलकर कइयों को काम में लगाकर कर अपनी साजिश को अंजाम दिया था। हर राज्य में मोबाइल टावर लगाने के नाम पर करोड़ों रुपए का चूना लगा चुका था। पुलिस के मुताबिक, मंगलवार को रामनगर इलाके से प्रदीप को गिरफ्तार किया गया। प्रदीप अपने भाई के घर में छुपा था। पुलिस उससे पूछताछ कर रही है।

 

बैरकपुर: एक की डूबने से मौत

बैरकपुर. उत्तर 24 परगना जिले के बैरकपुर महादेवानन्द महाविद्यालय में पढऩे वाले पांच छात्र गंगा नदी में स्नान करने उतरे, इनमें दो छात्र नदी की तेज धारा में बह गए। काफी तलाश के बाद एक को निकला लिया गया बाद में डिजस्टर मैनेजमेंट की टीम ने आकर दूसरे छात्र का शव बाहर निकाला। मृतक का नाम सम्राट मुखर्जी है। इस घटना से दुख का वातावरण है। सूत्रों के अनुसार बैरकपुर महादेवानन्द महाविद्यालय के प्रथम वर्ष के पांच छात्र बाबाजी गंगा घाट में स्नान करने के लिए पहुंचे। पांच दोस्तों में से दो गंगा के पानी की तेज धारा में बह गए। इसके बाद दोनों की तलाश में सब लग गए दोनों में से एक को बचा लिया गया पर सम्राट नहीं मिला। बाद में बैरकपुर थाने की पुलिस पहुंची व आपदा प्रबंधन टीम की मदद से सम्राट को बाहर निकाल लिया गया। अस्पताल ले जाने पर उसे मृत घोषित कर दिया। इस घटना से पूरे इलाके में शोक की छाया उतर आई है।

 

 

Vanita Jharkhandi
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned