पहले चुराई चार सौ साल पुरानी राधा-कृष्ण की मूर्ति, फिर लौटा गया चोर

पहले चुराई चार सौ साल पुरानी राधा-कृष्ण की मूर्ति, फिर लौटा गया चोर

Vanita Jharkhandi | Updated: 22 Jul 2019, 02:30:21 PM (IST) Kolkata, Kolkata, West Bengal, India

 

- फूल व दक्षिणा भी रखी मूर्ति के साथ

पूर्व बर्दवान के आउसग्राम गोपीनाथ बाटी

 

कटवा . पूर्व बर्दवान के आउसग्राम गोपीनाथ बाटी गांव के सौ साल पुराने गोपीनाथ मंदिर में प्रतिष्ठित चार सौ साल पुरानी राधा-कृष्ण की प्रतिमा चोरी किए जाने व फिर वापस आने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। चोर प्रतिमा के साथ साथ फूल-दक्षिणा भी छोड़ गया। अज्ञात चोर के इस व्यवहार से ग्रामीण हतप्रभ हैं। वहीं मंदिर के पुजारी इसे अलौकिक क्रिया बता रहे हैं।
बताया जाता है कि शुक्रवार की शाम को गोपीनाथबाटी गांव के मंदिर से राधा-कृष्ण की पुरानी प्रतिमा अपनी बेदी से नदारद दिखी। चोरी की खबर आग की तरह फैल गई। शुक्रवार की रात को ही मंदिर कमेटी ने गुसकरा फाड़ी में शिकायत दर्ज कराई। पुलिस ने जांच शुरू की। इधर, चोर को सदबुद्धि आ गई और 24 घंटे के अन्दर उसने वारदातस्थल से दस किलोमीटर दूर भातार गांव के माहतो इलाके के दूसरे मंदिर में वह प्रतिमा रख दी। फूल व दक्षिणा के रूप में 20 रुपए भी छोड़ गया। ग्रामीणों में यह खबर आग की तरह फैल गई। पुलिस पहुंची प्रतिमा को एक बार फिर मूल मंदिर को सौंप दिया गया।

मंदिर के पुजारी बुद्धदेव गोस्वामी का कहना है कि प्रतिमा जागृत है। चोर चोरी करके उसे ले जाने में असमर्थ हुआ होगा और उसे बीच में ही दूसरी राधा-कृष्ण मंदिर में रखने को बाध्य होना पड़ा होगा। रविवार को ही प्रतिमा को गंगा जल से शुद्ध कर प्रतिस्थापित किया गया। यह घटना पूरे गांव में चर्चा का विषय है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned