खतरे को दावत देते 4 और फ्लाईओवर

खतरे को दावत देते 4 और फ्लाईओवर

Manoj Kumar | Publish: Sep, 07 2018 11:26:09 PM (IST) Kolkata, West Bengal, India

जल्द मरम्मत नहीं हुई तो और होगी और दुर्घटना-राइट्स

 

अपनी दूसरी रिपोर्ट में राइट्स ने लिखा है कि चिंगरीहाटा फ्लाईओवर की सडक़ जगह-जगह टूट चुकी है और गार्डर भी टूट चुके हैं। इस पर थोड़ी-सी अधिक गति से वाहनों के गुजरने पर कभी भी बड़ी दुर्घटना घट सकती है। बड़ी गाडिय़ों के नियंत्रण खोकर साइड वाल से टकराने से सीधी 30 फीट नीचे जमीन पर जा गिरेंगी और बड़ी दुर्घटना घट सकती है।

कोलकाता

पुल और फ्लाईओवर की स्थिति की समीक्षा कर उनकी सेहत रिपोर्ट कार्ड तैयार करने वाले विशेषज्ञों की संस्था राइट्स ने शुक्रवार को अपनी दूसरी रिपोर्ट में कोलकाता और हावड़ा के और चार पुल और फ्लाईओवर को खतरनाक होने का दावा करते हुए प्रशासन को आगाह किया है। संस्थान ने अपनी दूसरी रिपोर्ट राज्य सरकार को देने के साथ ही उक्त चारों पुल और फ्लाईओवर की तुरन्त मरम्मत करने की सलाह दी है।
अपनी दूसरी रिपोर्ट में राइट्स ने कहा है कि महानगर का चिंगरीहाटा, अरविन्द सेतु, ढाकुरिया और विजन सेतु की स्थिति खतरनाक है। ये खतरे को दावत देते नजर आ रहे हैं। इससे पहले मंगलवार शाम माझेरहाट फ्लाइओवर गिरने के बाद राइट्स ने गुरुवार को अपनी रिपोर्ट में बंकिम सेतु और बाघाजतिन सेतु को सबसे खतरनाक घोषित किया था। माझेरहाट ब्रिज दुर्घटना में तीन लोगों की मौत हुई है, जबकि 24 लोग अस्पताल में इलाजरत हैं. प्राथमिक जांच में इस बात की पुष्टि हो गई है कि राज्य सरकार के लोक निर्माण विभाग की अनदेखी की वजह से हैं यह फ्लाइओवर गिरा था। अपनी दूसरी रिपोर्ट में राइट्स ने लिखा है कि चिंगरीहाटा फ्लाईओवर की सडक़ जगह-जगह टूट चुकी है और गार्डर भी टूट चुके हैं। इस पर थोड़ी-सी अधिक गति से वाहनों के गुजरने पर कभी भी बड़ी दुर्घटना घट सकती है। बड़ी गाडिय़ों के नियंत्रण खोकर साइड वाल से टकराने से सीधी 30 फीट नीचे जमीन पर जा गिरेंगी और बड़ी दुर्घटना घट सकती है। इस फ्लाईओवर की दीवारों में दरारें पड़ गई हैं। ढाकुरिया फ्लाईओवर को तीन महीने पहले ही मरम्मत कराया गया था, लेकिन चूहों ने फिर से इसे अंदर से खोखला कर दिया है। इसके भी साइड वाल और विभिन्न दीवारों में दरारें पड़ गई हैं। राइट्स की रिपोर्ट के अनुसार यही स्थिति विजन सेतु और अरविंद सेतु की भी है। ऊपर की सडक़ टूट गई है। कहीं से सरिया निकला हुआ है तो कहीं नीचे की ओर सीलिंग टूटकर गिर रही है। इससे पुल नीचे से गुजरने वालों के सिर में गंभीर चोट लग सकती है और अगर पुल का बड़ा हिस्सा गिरने पर लोगों की मौत भी हो सकती है। इन चारों को तत्काल मरम्मत कराए जाने की सिफारिश की गई है। लोक निर्माण विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने इस बारे में बताया है कि जिन फ्लाईओवर के बारे में रिपोर्ट मिली हैं उनकी जिम्मेवारी कोलकाता मेट्रो डेवलपमेंट अथॉरिटी की है। रिपोर्ट भेज दी गई है। जल्द से जल्द इनकी मरम्मत का काम शुरू होगा।

Ad Block is Banned