नुसरत के दुर्गावतार वाले फोटो से चिढ़े कट्टरपंथी

सोशल मीडिया पर दी सांसद को जान से मारने की धमकी

By: Krishna Das Parth

Published: 28 Sep 2020, 10:33 PM IST

कोलकाता . तृणमूल कांग्रेस की सांसद और अभिनेत्री नुसरत जहां सोशल मीडिया पर शेयर की गई तस्वीरों को लेकर फिर से चर्चा में आ गई हैं। इन तस्वीरों में अभिनेत्री दुर्गा के अवतार में नजर आ रही हैं। जिसकी वजह से अब उन्हें जान से मारने की धमकी मिल रही है। सोशल मीडिया पर ट्रोलिंग से शुरुआत के बाद अब नुसरत जहां के पीछे बड़े कट्टरपंथी पड़ गए हैं। उन्हें जान से मारने की धमकियां भी मिल रही हैं। वहीं इस मामले में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और बुद्धिजीवी गैंग ने चुप्पी साध रखी है। सोशल मीडिया पर उन्हें मुस्लिम विरोधी कहा जा रहा है। नुसरत के दुर्गावतार के इस वीडियो से चिढ़े कट्टरपंथी यहां तक कह रहे हैं, कि तुम्हारी मौत का वक्त आ गया है।
हाल ही में नुसरत ने अपने कुछ वीडियो और फोटो इंस्टाग्राम पर शेयर किए हैं। इन तस्वीरों में वह मां दुर्गा बनी हुईं दिखाई दे रही हैं। वह हाथ में त्रिशूल पकड़े मां दुर्गा के अवतार में नजर आ रही हैं। वीडियो की बात करें तो वीडियो में ब्लू बॉर्डर के साथ रेड साड़ी, हाथों में त्रिशूल पकड़े दुर्गा मां के अवतार में फोटोशूट कराती हुई दिखाई दे रही हैं। वीडियो में नुसरत जहां के एक्सप्रेशंस भी काफी लाजवाब लग रहे हैं।

----

10वीं के छात्र की करंट लगने से हुई मौत
-आर्थिक तंगी के कारण गया था काम करने
-मालदह के हरिश्चंद्रपुर की घटना

कोलकाता . मालदा जिले के हरिश्चंद्रपुर क्षेत्र में काम करने के दौरान रविवार को 10वीं कक्षा के एक छात्र की मौत बिजली का तार छू जाने से हो गई। कक्षा 10वीं का छात्र रबीउल अपने परिवार की आर्थिक मदद करने के लिए पढ़ाई के अलावा राजमिस्त्री के सहायक के रूप में काम करता था। रविवार को काम करते समय 11000 हाई वोल्ट के बिजली का तार छात्र पर गिर गया व उसकी मौत हो गई। वह हरिश्चंद्रपुर ब्लॉक 1 महेंद्रपुर, बंसरिया गाँव का रहने वाला था। पारिवारिक सूत्रों के अनुसार कास्टिंग सेटिंग में बांस के खंभे स्थापित करते समय, वह ग्यारह हजार वोल्ट के बिजली के तार के संपर्क में आया और छत से गिर गया। उसे पहले हरिश्चंद्रपुर ग्रामीण अस्पताल ले जाया गया, तो ड्यूटी पर मौजूद डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। ज्ञात हो कि उसके पिता मोहम्मद तस्लीम पेशे से ड्राइवर हैं। लॉकडाउन के दौरान परिवार आर्थिक रूप से उनके तीन बेटे और एक बेटी है। रबीउल परिवार का सबसे बड़ा पुत्र था। वह महेंद्रपुर हाई स्कूल में 10वीं कक्षा में पढ़ रहा था। स्कूल लॉकडाउन में बंद हो गया था इसलिए वह पड़ोस में राजमिस्त्री के साथ काम करने गया था। इस घटना को लेकर पूरे इलाके में शोक व्याप्त है।

Krishna Das Parth Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned