फंसे प्रवासी श्रमिकों को एक हजार देगी सरकार:ममता

स्नेह पारस योजना के तहत प्रवासी श्रमिकों को सहायता का निर्णय

By: Rajendra Vyas

Published: 18 Apr 2020, 12:37 AM IST

स्नेह पारस योजना के तहत प्रवासी श्रमिकों को सहायता का निर्णय
कोलकाता.
कोरोना वायरस का संक्रमण रोकने के लिए लागू लॉकडाउन के चलते राज्य में फंसे दूसरे राज्यों के प्रवासी श्रमिकों और दूसरे राज्यों में फंसे बंगाल के प्रवासी श्रमिकों को आर्थिक सहायता के रूप में 1000 रुपए नकद का भुगतान किया जाएगा। राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शुक्रवार को सचिवालय नवान्न में संवाददाताओं को बताया कि सरकार ने स्नेह पारस नामक योजना के तहत प्रवासी श्रमिकों को सहायता करने का निर्णय लिया है। ममता ने कहा कि दूसरे राज्यों में फंसे बंगाल के प्रवासी श्रमिकों की घर वापसी से पहले इनकी गंभीरता से स्क्रीनिंग जरूरी है। उन्होंने कहा कि प्रवासी श्रमिकों के लिए भोजन पानी तथा दवाइयों की कोई कमी नहीं होनी चाहिए। इसके लिए उन्होंने एक बार फिर वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से समस्त जिला प्रशासन को कड़ी हिदायत दी है। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने इस संदर्भ में राज्य के मुख्य सचिव राजीव सिन्हा को पत्र लिख कर प्रवासी श्रमिकों के साथ सहानुभूतिपूर्वक व्यवस्था करने को कहा है।

Corona virus
Rajendra Vyas Editorial Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned