बंगाल के डीजीपी की 'शुतुरमुर्गी मुद्रा' परेशान करने वाली बोले राज्यपाल

राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआइए) की गिरफ्त में मुर्शिदाबाद से आए छह आतंकियों के मामले पर बंगाल की कानून व्यवस्था को लेकर एक बार फिर सवाल खड़े किए हैं। इससे पहले भी वे राज्य पुलिस की कार्यप्रणाली पर अंगुली उठा चुके हैं।

By: Paritosh Dube

Published: 19 Sep 2020, 03:07 PM IST

कोलकाता. बंगाल के मुर्शिदाबाद से अल कायदा के आतंकियों की गिरफ्तारी ने बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ को राज्य की कानून व्यवस्था पर हमला करने का एक और मौका दे दिया है। प्रकरण के सामने आने के बाद राज्यपाल ने एक के बाद एक कई ट्वीट कर राज्य में खराब होती कानून व्यवस्था का जिक्र किया और अधिकारियों से अपनी जिम्मेदारियों ने नहीं बच सकने की बात कही। यही नहीं उन्होंने राज्य के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) को भी निशाने पर लिया। ट्वीट में उन्होंने कहा कि उनकी 'शुतुरमुर्गी मुद्रा ' परेशान करने वाली है। एक अन्य ट्वीट में उन्होंने कहा कि राज्य अवैध बम बनाने का अड्डा बन गया गया है और गंभीर रूप से खराब होती कानून-व्यवस्था की जिम्मेदारियों से पुलिस विभाग में उच्च पदों पर बैठे लोग बच नहीं सकते।
राज्यपाल ने ट्वीट में कहा कि राज्य के पुलिस अधिकारी सियासी एजेंडे पर काम करते हैं। विपक्षी दलों पर हमला बोलते हैं। पुलिस विभाग के जिम्मेदार अधिकारी राज्य की बिगड़ती कानून-व्यवस्था की जिम्मेदारी से बच नहीं सकते हैं। राज्य अवैध बम बनाने का ठिकाना बन चुका है, इससे लोकतंत्र की स्थिति कमजोर हो सकती है। लोकतंत्र से समझौता नागरिकों के जीवन के लिए खतरनाक है। राज्य के अधिकारियों का प्रशासन और पुलिस के राजनीतिकरण करने पर ध्यान है।

--------
नौ में से छह आतंकी बंगाल में पकड़े गए
एनआईए ने शनिवार तडक़े पाक समर्थित आतंकी संगठन अल-कायदा के नौ आतंकियों को गिरफ्तार किया है। जिनमें छह पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद और तीन केरल के एर्नाकुलम से गिरफ्त में लिए गए हैं। आतंकियों की योजना दिल्ली सहित देश के कई अन्य इलाकों की सरकारी इमारतों और मासूम लोगों को नुकसान पहुंचाने की थी। टारगेट करने की थी। उनके पास से संवेदनशील दस्तावेज और हथियार बरामद हुए हैं।

Show More
Paritosh Dube Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned