लोकसभा चुनाव में सिरदर्द बनेगा अवैध हथियार!

लोकसभा चुनाव में सिरदर्द बनेगा अवैध हथियार!

Ashutosh Kumar Singh | Publish: Mar, 17 2019 02:41:37 PM (IST) Kolkata, Kolkata, West Bengal, India

- कारण, अब अवैध असलहा के उत्पादन का केन्द्र बन गया है बंगाल

कोलकाता

पश्चिम बंगाल में लोकसभा चुनाव में अवैध हथियार शांतिपूर्ण और निष्पक्ष चुनाव कराने में जुटी एजेन्सियों के लिए सिरदर्द बनेगा! कारण, बंगाल अब अवैध असलहा के उत्पादन का केन्द्र बन गया है। अब तक चुनाव के समय राज्य में बिहार, झारखंड, उत्तर प्रदेश आदि राज्यों से लाए जाते थे। पड़ोसी राज्यों की सीमा और उक्त राज्यों से आने वाली ट्रोनों में चेकिंग बढ़ा कर पुलिस चुनावी मौसम में अवैध हथियारों की आमद रोक लेती थी। पिछले कुछ सालों से राज्य के अवैध असलहा के कारोबारियों ने अपने धंधे का तरीका बदल लिया है। अब वे पड़ोसी राज्यों से ‘मौत का सामान’ नहीं ला रहै हैं, बल्कि वहां से कारीगर लाकर खुद के यहां बनवा रहे हैं। अवैध असलहा के कारोबार से जुड़े लोगों के अनुसार चुनाव के समय मांग काफी बढ़ जाती हैं। इसे ध्यान में रखते हए अवैध असलहा के सौदागरों ने लोकसभा चुनाव की तारीखों के घोषणा के लगभग छह महीने पहले से बड़े पैमाने पर हथियार बना रहे हैं। चुनाव की तारीखों की घोषणा के दिन से ही अवैध हथियारों की बिक्री शुरू हो गई है। कोलकाता समेत राज्य के विभिन्न जिलों से आए दिन अवैध हथियारों की जब्ती इसका उदाहरण हैं।
------

महंगे दाम पर बिक रहे हैं अवैध असलहा
चुनावी मौसम में मांग के साथ अवैध असलहा/कारतूस की कीमत भी बढ़ गई। सर्वाधिक मांग कट्टा (सिंगल शॉटर)और 7.2 तथा 7.6 एमम के पिस्टल की है। अपुष्ट सूत्रों के अनुसार चुनावी मौसम में कट्टा 4 से 5 हजार (जिसमें पब्लिक सप्लाई वाली राइफल की गोली लगती है), 8 से 10 हजार रुपए (जिसमें पुलिस की थ्री नॉट थ्री राइफल की गोली लगती ) बिक रहा है। 7.2 और 7.6 एमएम के पिस्टल 25-30 हजार रुपए में बिक रहे हैं। कारतूस क्रमश: 400450/ 500-550/ 350-400 रुपए में बिक रहे हैं।

--------
‘मेड इन मुंगेर’ के स्टाम्प लगे असलहा की मांग अधिक है

‘मेड इन मुंगेर ’ के स्टाम्प लगे असलहा की मांग अधिक है। इनकी कीमत आम अवैध असलहा से अधिक है। अपराधी मुंगेर के बने हथियारों पर विश्वास रखते हैं।
----

हाल में यहां-यहां पकड़ा गया अवैध असलहा कारखाना

12 अक्टूबर 2018: हुगली जिले में अवैध हथियार कारखाना पकड़ा गया
20 दिसम्बर 2018: हावड़ा के टिकिया पाड़ा में अवैध हथियार कारखाने का भंडाफोड़

25 जनवरी 2019: पूर्व मिदनापुर में अवैध असलहा कारखाना पकड़ा गया
18 फरवरी 2019: दक्षिण 24 परगना जिले के बारुईपुर में अवैध हथियार कारखाना पकड़ा गया

10 मार्च 2019: दक्षिण 24परगना जिले के कुलतली इलाके में अवैध हथियार कारखाना पकड़ा गया
-----

इनका कहना है
पुलिस अवैध हथियारों को लेकर पुलिस तत्पर है। उक्त कारखानों का पकड़ा जाना पुलिस की तत्परता का उदाहरण है। पुलिस लगातार छापेमारी कर रही है। अवैध हथियार और इसके सौदागर पकड़े जा रहे हैं।

सिद्धनाथ गुप्ता, पुलिस महानीरक्षक (कानून-व्यवस्था)

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned