देगंगा में डेंगू पीडि़तों से मिले अधीर

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सांसद अधीर रंजन चौधरी ने गुरुवार सुबह डेंगू प्रभावित उत्तर २४ परगना के देगंगा का दौरा किया

By: शंकर शर्मा

Published: 10 Nov 2017, 06:11 AM IST

कोलकाता. प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सांसद अधीर रंजन चौधरी ने गुरुवार सुबह डेंगू प्रभावित उत्तर २४ परगना के देगंगा का दौरा किया। उनके साथ विधायक अब्दुर रहीम काजी, विधायक अखरुज्जमां समेत जिला कांग्रेस के कई नेता थे। उन्होंने देगंगा के विश्वनाथपुर स्वास्थ्य केंद्र में इलाजरत डेंगू के मरीजों से कुशलक्षेम पूछा।


अस्पताल में पुरुष-महिला एक साथ : प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि देगंगा अस्पताल की हालत राज्य के अन्य ग्रामीण अस्पतालों जैसी ही है। जहां एक छत के नीचे एक ही हॉल में पुरुष और महिलाओं को एक साथ इलाज किया जा रहा है। जो अमानविक है।

चौधरी के अनुसार उक्त अस्पताल में ना तो मरीजों के लिए पर्याप्त दवा है और ना ही चिकित्साकर्मी। अस्पताल में आधारभूत ढांचा के नाम पर कुछ भी नहीं है। उन्होंने इसकी शिकायत बारासात स्थित जिला स्वास्थ्य अधिकारी से की है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि राज्य में डेंगू का प्रकोप तेजी से फैल रहा है पर सरकार इसे मानने को तैयार नहीं है।

जिला स्तर के स्वास्थ्य अधिकारी इस बारे में कुछ भी बताने की स्थिति में नहीं हैं। चौधरी ने बताया कि गत सोमवार को उन्होंने शाी भवन में स्वास्थ्य व परिवार कल्याण मंत्रालय के प्रधान सचिव से मुलाकात की। उन्होंने डेंगू की रोकथाम और उसका मुकाबला करने में राज्य सरकार की विफलता से उन्हें अवगत कराया है। उनके अनुसार केंद्र सरकार डेंगू की रोकथाम में राज्य को सहयोग करने को तैयार है पर राज्य सरकार की उदासीनता आड़े आ रही है।

बेलूर अस्पताल से मिला डेंगू का लार्वा
बेलूर स्टेट जनरल अस्पताल से डेंगू का लार्वा मिला है। लिलुआ, बेलूर व बाली में इन दिनों बुखार से लोग पीडि़त हैं। यहां रोगियों के लिए एक मात्र सरकारी अस्पताल है। इस अस्पताल में जमा गंंदा पानी, बजबजाती नालियां व गंदगी के लगे अम्बार को देखते हुए हावड़ा नगर निगम के मेयर इन काउंसिल के सदस्य भाष्कर भट्टाचार्य अपनी टीम के साथ दौरा किए। उन्होंने यहां उपचार करा रहे रोगियों से भी मुलाकात की। रोगियों ने बताया कि मच्छरों के डंक से बीमार होने पर यहां भर्ती हुए हैं, लेकिन इस अस्पताल में भी मच्छरों का काफी आतंक है। भाष्कर भट्टाचार्य ने पूरे अस्पताल का परिदर्शन किया।


इस दौरान डेंगू व मलेरिया के जीवाणु वहन करने वाले मच्छरों का लार्वा पाया गया। उन्होंने नालियों में मच्छरों को मारने वाले तेल का छिडक़ाव कराया जिससे लार्वा को मारा जा सके। भट्टाचार्य ने अस्पताल सुपर को पूरे अस्पताल परिसर की सफाई कराने को कहा है। मच्छरों को मारने के लिए पूरे अस्पताल परिसर में तेल का छिडक़ाव किया गया। इसके अलावा अस्पताल के विभिन्न मार्गों पर जमे जल को साफ किया गया।

शंकर शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned