सरकारी स्कूलों के बच्चों को फरवरी तक यूनिफॉर्म देने का निर्देश

यूनिफॉर्म देने का निर्देश

- छात्रों को अगले महीने स्कूल की ड्रेस दे दी जाएगी

By: Krishna Das Parth

Published: 06 Jan 2021, 12:53 AM IST

कोलकाता .
राज्य सरकार ने स्कूली बच्चों को ड्रेस देने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। कोरोना संक्रमण के कारण पिछले साल छात्रों को ड्रेस देना संभव नहीं हुआ था। इस बार स्कूलों को यूनिफॉर्म उपलब्ध कराने के निर्देश भेजे गए हैं। अगर सब ठीक रहा तो सभी बच्चों को फरवरी तक ड्रेस दे दी जाएगी। इससे पहले, प्रशासन के सूत्रों के मुताबिक यूनिफॉर्म का वितरण फरवरी में पूरा हो जाएगा। सर्वशिक्षा मिशन छात्रों को स्कूल ड्रेस प्रदान करने का ध्यान रखता है। सर्व शिक्षा मिशन के जिला अधिकारी सुमना बंद्योपाध्याय ने सहमति व्यक्त करते हुए कहा कि छात्रों को अगले महीने स्कूल की ड्रेस दे दी जाएगी। प्रशासन के सूत्रों के अनुसार राज्य ने हाल ही में इस संबंध में जिले को आवश्यक निर्देश जारी किए हैं। उन दिशानिर्देशों को विद्यालय निरीक्षकों (एसआई) को भेजा गया है। स्कूल पर्यवेक्षक सर्कल स्तर पर स्कूल ड्रेस वितरण परियोजना समन्वयक के प्रभारी हैं। शालबनी में जयपुर हाई स्कूल के कार्यवाहक प्रधानाध्यापक प्रशांत मंडल ने कहा कि सरकार की ओर से दिए गए दिशानिर्देशों के अनुसार कदम उठाए जाएंगे। मिदनापुर सदर प्रखंड के पलाशी प्राथमिक विद्यालय की कार्यवाहक प्रधानाध्यापिका सौम्या सुंदर महापात्रा ने कहा कि स्कूल की ओर से हर कदम उठाया जा रहा है। प्रशासन के सूत्रों के अनुसार फरवरी से स्कूल से मिड डे मील देने के समय स्कूल ड्रेस प्रदान की जाएगी। स्कूल की ड्रेस अभिभावकों को सौंप दी जाएगी। छात्रों को ड्रेस लेने के लिए अब स्कूल नहीं जाना पड़ेगा। कक्षा शिशु से लेकर कक्षा आठ तक के छात्रों को स्कूल ड्रेस दी जाती है। इस बार यह नौवीं कक्षा के छात्रों को भी दी जाएगी। क्योंकि पिछले साल ड्रेस नहीं दी गई थी। जो लोग पिछले साल आठवीं कक्षा में थे वे अब नौवीं कक्षा में हैं। इस बार भी स्कूली बच्चों को स्व-सहायता समूहों के माध्यम से ड्रेस दी जाएगी। मालूम हो कि जिले में बच्चों की कक्षा से लेकर नौवीं कक्षा तक के छात्रों की संख्या लगभग साढ़े छह लाख है। प्रत्येक को दो सेट ड्रेस दी जाएगी। स्कूल यूनिफॉर्म के दो सेट बनाने की लागत प्रति छात्र 600 रुपये है। इस मामले में इसकी लागत लगभग 40 करोड़ रुपये होगी। प्रशासन के सूत्रों के अनुसार, इस महीने के भीतर पैसा स्कूलों में पहुंच जाएगा।

Krishna Das Parth Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned