अंतरराष्ट्रीय कोलकाता पुस्तक मेला अनिश्चितकाल के लिए स्थगित

26 जनवरी से 8 फरवरी के बीच होना था आयोजित

By: Krishna Das Parth

Published: 28 Dec 2020, 06:06 PM IST

कोलकाता
कोलकाता के करूणामयी में होने वाले अंतरराष्ट्रीय कोलकाता पुस्तक मेला को कोरोना के कारण अनिश्चित काल के लिए स्थगित कर दिया गया है। पुस्तक मेला 26 जनवरी से 8 फरवरी के बीच आयोजित होना था। स्वास्थ्य नियमों को ध्यान में रखते हुए पुस्तक मेला फिलहाल आयोजित नहीं करने का निर्णय लिया गया है। कोलकाता पुस्तक मेले के आयोजक बुक सेलर्स एंड पब्लिसर्स गिल्ड के सचिव त्रिदीब चट्टोपाध्याय ने कहा कि नए सिरे से कोरोना महामारी के फैलने से दुनिया के कई हिस्सों में फिर से लॉकडाउन की स्थिति बन चुकी है।
कोरोना में विकट स्थिति के कारण इस बार अंतरराष्ट्रीय कोलकाता पुस्तक मेला स्थगित कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय उड़ानें फिलहाल बंद हैं। नतीजतन, विदेशी पुस्तकों का स्टॉल लग पाना संभव नहीं है। क्योंकि, इस मेले में विभिन्न देशों के प्रकाशक आते हैं। यह कोलकाता पुस्तक मेले की विशेषताओं में से एक है। इसलिए अनिश्चितकाल के लिए पुस्तक मेला आयोजन पर रोक लगा दिया गया है। जब स्कूल, कॉलेज खुल जाएंगे और अंतरराष्ट्रीय विमान सेवा शुरू हो जाएगी। इसके बाद ही पुस्तक मेले का फिर आयोजित किया जाएगा।
मालूम पिछले साल महानगर के साल्टलेक स्थित सेंट्रल पार्क में 29 जनवरी से शुरू हुए को 44वें अंतरराष्ट्रीय कोलकाता पुस्तक मेले का अंतिम दिन विवादों भरा रहा। पुस्तक मेले के अंतिम दिन कोलकाता के विभिन्न विश्वविद्यालय व कॉलेज के छात्रों ने नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) के विरोध में करुणामयी से सेंट्रल पार्क तक एक रैली निकाली थी लेकिन सेंट्रल पार्क पहुंचने से पहले ही पुलिस ने रैली को रोक दिया, जिससे छात्रों और पुलिस के बीच विवाद शुरू हो गया। इस दौरान छात्र और पुलिस के बीच हल्की नोंक-झोंक भी हुई। इसके बाद छात्रों ने प्रदर्शन शुरू कर दिया। इस दौरान छात्रों ने सीएए-एनआरसी के विरोध में नारे भी लगाए।

Krishna Das Parth Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned