मायापुर के इस्कॉन मंदिर में शुरू हुआ झूलन महोत्सव

मायापुर के इस्कॉन मंदिर में शुरू हुआ झूलन महोत्सव

Vanita Jharkhandi | Updated: 13 Aug 2019, 02:52:24 PM (IST) Kolkata, Kolkata, West Bengal, India

- उमड़े श्रद्धालुगण

मायापुर . नदिया जिले के मायापुर स्थित इस्कॉन मंदिर में सोमवार से श्री राधा माधव का झूलन यात्रा महोत्सव आरम्भ हो गया है। यह महोत्सव 15 अगस्त तक चलेगा। इस पर्व को मानने में खूब जोरों से तैयारियां की गई है। झूलन यात्रा महोत्सव सावन महीने के पुत्रदा एकदशी से प्रारम्भ होकर बलराम के जन्मोत्सव तक मनाई जाएगी। इस त्यौहार का सार है कि गर्मी के मौसम के बाद सावन के महीने में श्री कृष्ण को उनके सभी सखा एवं सखी गण मिलकर नदी के किनारे शाम को सुहाने हवा में झूले पे सवार होकर आनंद प्रदान कराते हैं। इस्कान मायापुर के मीडिया प्रभारी सुब्रत दास ने बताया कि झूलन यात्रा को बृहद आकर में मनाए जाने का निर्देश इस्कॉन के प्रतिष्ठाता ए.सी.भक्तिवेदांत स्वामी श्रीलाप्रभुपाद ने अपने शिष्यों को दिया था। इस कारण आज दुनिया के करीब 850 से अधिक इस्कॉन मंदिरों में यह महोत्सव बड़े जोश और उल्लास से मनाया जाता है। दास ने बताया कि इस्कॉन के आध्यात्मिक मुख्यालय में देश-विदेश के सन्यासी, ब्रह्मचारी, गृहस्थ भक्तों का झुण्ड झूलन यात्रा को आयोजित करने में जुटा हुआ है। सोमवार से आरम्भ हुआ यह महोत्सव अपनी भव्यता के साथ 15 अगस्त तक मनाया जाएगा। हर शाम श्री राधा माधव के उत्सव विग्रहों को फूलों से सजाई गई पालकी में सवार करके सुगंधित तालाब के निकट बने हुए झूले पर रख कर झूलन करवाया जाएगा। चंद्रोदय मंदिर से तालाब तक का पूरा रास्ता बड़े सुन्दर तरीके से सजाया जा रहा है। इस अवसर पर हर शाम दीपदान, मधुर हरिनाम संकीर्तन और महाप्रसाद करीब 30000 भक्तों में बांटा जाएगा। 15 अगस्त को दाऊजी के नाम से प्रसिद्ध श्री कृष्ण के बड़े भाई बलराम की अबिर्भाव तिथि मनाई जाएगी। इस दिन उनका महाभिषेक और महारती की जाएगी।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned