माता-पिता, बहन और दादी की हत्या कर घर में दफनाया

पश्चिम बंगाल के मालदह जिले में दिल दहला देने वाली वारदात सामने आई है। 19 साल के युवक ने अपने माता-पिता, बहन और दादी की हत्या कर शवों को घर में दफना दिया था। वारदात के 4 महीने बाद शुक्रवार रात इस नृशंस वारदात का खुलासा हुआ। बड़े भाई आरिफ मोहम्मद की शिकायत पर पुलिस ने आरोपी युवक आसिफ मोहम्मद को गिरफ्तार कर लिया है।

By: Rabindra Rai

Updated: 19 Jun 2021, 11:53 PM IST

चार महीने बाद हुआ खुलासा, आरोपी युवक गिरफ्तार
बंगाल के मालदह में दिल दहला देने वाली वारदात
मालदह. पश्चिम बंगाल के मालदह जिले में दिल दहला देने वाली वारदात सामने आई है। 19 साल के युवक ने अपने माता-पिता, बहन और दादी की हत्या कर शवों को घर में दफना दिया था। वारदात के 4 महीने बाद शुक्रवार रात इस नृशंस वारदात का खुलासा हुआ। बड़े भाई आरिफ मोहम्मद की शिकायत पर पुलिस ने आरोपी युवक आसिफ मोहम्मद को गिरफ्तार कर लिया है। उसने अपना गुनाह कबूल लिया है। घटना गत 28 फरवरी की कालियाचक थाना क्षेत्र के 16 माइल इलाके के गुरुटोला गांव की है। पुलिस अधीक्षक आलोक राजोरिया ने बताया कि शनिवार को मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में आसिफ के पिता जावेद अली (53), मां इरा बीबी (48), बहन अरिफा खातून (36) और दादी ए. बीबी (72) के शव को जमीन खोदकर निकाला गया। आसिफ ने अपने परिजनों को इतनी निर्ममता से क्यों मार डाला? इस बारे में अभी तक स्पष्ट नहीं हो पाया है। उसने अपने पिता से रुपए मांगे थे। प्राथमिक जांच के आधार पर पुलिस का अनुमान है कि आसिफ मानसिक रूप से बीमार है। हालांकि आधिकारिक तौर पर इसकी पुष्टि नहीं की गई है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।
--
यूं की थी हत्या
पुलिस के अनुसार प्राथमिक पूछताछ में आसिफ ने बताया है कि उसने पहले सभी जने को कोल्ड ड्रिंक्स में नशीली दवा मिला कर पिला दी। अचेत हो जाने के बाद सभी के हाथ-पैर बांधकर ताबूत में बंद कर दिया। ताबूत को बेसमेन्ट में रखकर उसमें पानी भर दिया। सभी जने की मौत हो गई और फिर शवों को दफना दिया।
--
भाई को दी थी हत्या की धमकी
वारदात के समय उसका भाई घर पर मौजूद था। आसिफ ने उसे घर से बाहर कदम निकालने अथवा किसी को इस बारे में बताने पर ऐसा ही अंजाम भुगतने की धमकी दी थी। इसलिए वह चुप था। आखिरकार किसी तरह से हिम्मत जुटा कर उसने पुलिस को घटना के बारे में जानकारी दी।
--
ऑनलाइन ऐप से मंगवाता खाना
आरोपी संदेह से बचने के लिए नौकरानी को घर में प्रवेश करने नहीं देता था। ऑनलाइन ऐप के जरिए खाना ऑर्डर करता था। पड़ोस के किसी को भी घर में घुसने नहीं देता था। आसिफ के पड़ोसी अर्जुन सिंह ने बताया कि उसने पड़ोस के लोगों को बताया था कि उसके परिवार के सभी लोग फिलहाल बाहर रह रहे हैं।
--
क्या कहते हैं मनोचिकित्सक
राज्य के जानेमाने मनोचिकित्सक सव्यसाची मित्रा ने वारदात के पीछे मानसिक बीमारी का अनुमान लगाया है। उन्होंने कहा कि कि यह एक भयावह घटना है। जांच में कारण स्पष्ट नहीं हुआ है, इसलिए आरोपी पर कोई टिप्पणी करना मुश्किल है। हालांकि, ऐसे मामलों में हमेशा एक मनोवैज्ञानिक समस्या होती है। पुलिस को युवक के आपराधिक रिकॉर्ड की भी जांच करने की जरूरत है।
--
घर में बनाया था लैब
पुलिस के अनुसार आसिफ ने अपने घर में लैब बना रखा था। उसके घर में कम्यूटर, लैपटाप, म्यूजिक सिस्टम अन्य इलेक्ट्रॉनिक उपकरण मिले हैं। आसिफ ने घर में लैब क्यों बना रखा था। इससे इस वारदात का कोई कनेक्शन है अथवा नहीं, इसकी जांच की जा रही है।
--
भोपाल के आकांक्षा हत्याकांड की यादें ताजा
इस वारदात ने वर्ष 2016 के भोपाल के चर्चित आकांक्षा हत्याकांड की यादें ताजा कर दी है। बांकुड़ा जिले की आकांक्षा को उसके बॉयफ्रेंड उदयन दास ने मारकर भोपाल के अपने घर में दफन कर दिया था और वहां सीमेंट का चबूतरा बना दिया था। पकड़े जाने पर उदयन ने पुलिस को बताया था कि उसने अपने माता-पिता की हत्या कर रायपुर में बगीचे में दफन कर दिया था।

Rabindra Rai Editorial Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned