केएमसी के इमरजेंसी डिजास्टर गैंग में हैं केवल 5 श्रमिक

आंधी और तूफान में पेड़ों के गिरने पर ये संभालते हैं मोर्चा
-इनकी संख्या बढ़ाने पर हो रहा है विचार

-मेयर को सौंपी गई रिपोर्ट

कोलकाता

By: KRISHNA DAS PARTH

Published: 25 Apr 2018, 11:07 PM IST


गत सप्ताह मंगलवार को आए कालबैशाखी तूफान में महानगर के अधिकतर इलाको में सड़कों पर पेड़ के गिरने से शहरवासियों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। कुछ इलाकों से निगम कर्मियों ने कुछ ही घंटो में उखड़े एवं क्षतिग्रस्त पेड़ों को हटा दिया, लेकिन कई इलाकों में गिरे हुए पेड़ों को हटाने में निगम को एक दिन से ज्यादा का समय लग गया। विपक्ष का आरोप था कि निगम की लापरवाही की वजह से शहर की सड़कों पर एवं बस्तियों में उखड़े पेड़ कई दिनों तक यूं ही पड़े रहे। नवान्न सूत्रों के अनुसार गत सप्ताह मंगलवार को आए तूफान में शहर में लगभग 256 बड़े पेड़ गिरे थे। जिसमें से 170 निगम के क्षेत्रों में थे। लेकिन निगम को इन 170 पेड़ों को हटाने में एक दिन से ज्यादा का समय लगा। निगम सूत्रों के अनुसार इसका मुख्य कारण निगम में पेड़ काटने वाले श्रमिकों की कमी है। सूत्रों के अनुसार निगम के कुल 16 बोरो में पेड़ काटने के लिए इमरजेंसी डिजास्टर गैंग नामक एक दल है जिसमें केवल 5 श्रमिक हैं। इसके साथ ही निगम के मुख्यालय में दो पेड़ काटने वाले श्रमिक हैं। अर्थात शहर में पेड़ गिरने पर यही श्रमिक बोरो स्तर पर पेड़ हटाने व काटने का काम करते हैं। इस गंभीर समस्या को लेकर निगम में एक उच्चस्तरीय बैठक की गई। बैठक में निर्णय लिया गया कि आने वाले समय में ऐसी विपदा से निपटने के लिए इमरजेंसी डिजास्टर गैंग में नए श्रमिकों की नियुक्ति कर उनकी संख्या बढ़ाकर 10 की जाएगी। साथ ही पेड़ काटने वाले नई मशीनों को खरीदने का भी प्रस्ताव लाया गया है। सूत्रों के अनुसार जल्द ही यह प्रस्ताव मेयर शोभन चटर्जी के पास पेश किया जाएगा। उनकी मंजूरी मिलते ही नियुक्ति प्रक्रिया शुरू हो जाएगी।

(कार्यालय संवाददाता)

5 साल के शिशु का यौन उत्पीडऩ का आरोप किशोरी पर

-बर्दवान के अंडाल की घटना
-पुलिस कर रही है किशोरी से पूछताछ

कोलकाता

पश्चिम बंगाल के बर्दवान जिले के अंडाल इलाके में ५ साल के एक शिशु का यौन उत्पीडऩ और उसको पीटने की घटना सामने आई है। यह आरोप 13 साल की एक किशोरी पर है। किशोरी को पूछताछ के लिए पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। अमानवीय अत्याचार के शिकार हुए शिशु को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उसके एक हाथ की हड्डी टूट गई है। स्थानीय सूत्रों के अनुसार घटना मंगलवार की है। शिशु हर दिन की तरह किशोरी के साथ खेल रहा था। किशोरी उसे अपने जीजा के घर ले गई। वहां उसके साथ कुकृत्य करने की कोशिश की। शिशु जब रोने लगा तो उसे बेरहमी से मारा-पीटा गया। रोते हुए शिशु घर लौटा और अपनी मां को सबकुछ बताया। मां ने किशोरी से पूछा तो उसने कहा कि वह उसके साथ अश£ील हरकत कर रहा था, इसलिए उसने उसको पीटा है। लेकिन बच्चे को जब अस्पताल ले जाया गया तो पता चला कि वह यौन उत्पीडऩ का शिकार हुआ है। बुधवार सुबह पीडि़त बच्चे के परिजनों ने पड़ोस के लोगों को घटना के बारे में जानकारी दी। घटना को सुन लोग भड़क गए। भड़के लोगों ने किशोरी और उसके जीजा की जमकर पिटाई की। घटना की खबर पाकर पुलिस पहुंची। पुलिस ने हालात को देखते हुए किशोरी को पूछताछ के लिए हिरासत में ले लिया है। समाचार लिखे जाने तक किशोरी की गिरफ्तारी की सूचना नहीं थी।

(कार्यालय संवाददाता)

KRISHNA DAS PARTH
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned