कोलकाताः प्लास्टिक में भ्रूण नहीं, मेडिकल वर्ज्य: पुलिस

कोलकाताः प्लास्टिक में भ्रूण नहीं, मेडिकल वर्ज्य: पुलिस

Ashutosh Kumar Singh | Publish: Sep, 02 2018 10:41:55 PM (IST) Kolkata, West Bengal, India

- दिन भर हडक़म्प मचने के बाद कोलकाता पुलिस ने किया दावा

- अब फॉरेन्सिक जांच के बाद मामले से उठेगा पर्दा

- पहले 14 भ्रूण मिलने से फैल गई थी सनसनी

कोलकाता

दक्षिण कोलकाता के हरिदेवपुर थाना क्षेत्र के राजा राम मोहन राय रोड में वर्षों से खाली पड़े एक भूखण्ड से रविवार दोपहर प्लास्टिक में 14 भ्रूण नहीं, बल्कि मेडिकल वर्ज्य पदार्थ मिलने के संकेत मिले हैं। 214 नम्बर राज राम मोहन राय रोड स्थित 72 कट्ठा का भूखण्ड लम्बे समय से खाली पड़ा हुआ है। कोलकाता की मशहूर प्रमोटिंग कंपनी ने उक्त जमीन खरीदी है। भवन निर्माण का काम अब तक शुरू नहीं हुआ है। चारों ओर से टिन से घेरा हुआ है। रविवार को साफ-सफाई का काम चल रहा था। सफाईकर्मियों को झाड़ी में प्लास्टिक के दो बड़े पैकेट दिखे। थोड़ी ही देर में यह अफवाह फैल गई कि पैकेट में 14 भ्रूण हैं। घटनास्थल पर लोगों की भारी भीड़ जमा हो गई। खबर पाकर पुलिस पहुंची। प्लास्टिक के पैकेट को एमआर बांगुर अस्पताल भेजा गया। डॉक्टरों ने परीक्षण के लिए पैकेट खोला तो देखा उनमें मेडिकल वज्र्य मिलने के संकेत मिले। भ्रूण जैसा कुछ भी नहीं लगा। खबर पाकर कोलकाता के पुलिस कमिश्रर (सीपी) राजीव कुमार और मेयर शोभन चटर्जी भी मौके पर पहुंचे।
----

पुलिस के यू टर्न से लोगों में संदेह
मामले में पुलिस के यूटर्न को लोग संदेह की नजर से देख रहे हैं। लोगों का कहना है कि पुलिस मामले को दबा रही है। पैकेट में भ्रूण ही थे। इससे पहले दोपहर में नीलांजन विश्वास, डेपुटी कमिश्रर (डीसी), साउथ वेस्ट ने पैकेट में 14 भ्रूण होने की पुष्टि की। शाम को प्रवीण त्रिपाठी, ज्वाइंट पुलिस कमिश्रर (जेसीपी), अपराध ने कहा कि राजा राम मोहन राय रोड स्थित खाली भूखण्ड से मिले पैकेट में भ्रूण नहीं, बल्कि मेडिकल वज्र्य है। पैकेट को जांच के लिए एमआर बांगुर अस्पताल में भेजा गया था। डॉक्टरों ने कहा है कि पैकेट में भ्रूण जैसे कुछ भी नहीं है। उनका कहना है कि पैकेट में मेडिकल वज्र्य है। इसकी फॉरेन्सिक जांच की जा रही है। रिपोर्ट अभी तक नहीं आई है।

-----

Ad Block is Banned