scriptKolkata Violence: Jawan arrested in connection with ISF violence | Kolkata Violence: छुट्टी में आया था सेना का जवान आइएसएफ के कार्यक्रम में लिया हिस्सा पुलिस ने किया गिरफ्तार | Patrika News

Kolkata Violence: छुट्टी में आया था सेना का जवान आइएसएफ के कार्यक्रम में लिया हिस्सा पुलिस ने किया गिरफ्तार

locationकोलकाताPublished: Jan 24, 2023 10:53:04 pm

Submitted by:

Paritosh Dube

धर्मतल्ला में आइएसएफ के प्रदर्शन के दौरान हुई हिंसा के मामले में कोलकाता पुलिस ने मुर्शिदाबाद से सेना के हवलदार को गिरफ्तार किया है। वह छुट्टियों पर घर आया हुआ था।

Kolkata Violence: छुट्टी में आया था सेना का जवान आइएसएफ के कार्यक्रम में लिया हिस्सा पुलिस ने किया गिरफ्तार
Kolkata Violence: छुट्टी में आया था सेना का जवान आइएसएफ के कार्यक्रम में लिया हिस्सा पुलिस ने किया गिरफ्तार
कोलकाता. धर्मतल्ला में आइएसएफ के प्रदर्शन के दौरान हुई हिंसा के मामले में कोलकाता पुलिस ने मुर्शिदाबाद से सेना के हवलदार को गिरफ्तार किया है। वह छुट्टियों पर घर आया हुआ था। प्रदर्शन के दौरान उसकी भूमिका का पता चलने पर उसे गिरफ्तार किया गया। पुलिस ने बताया कि मंगलवार को मुर्शिदाबाद से गिरफ्त में लिए गए सेना के हवलदार का नाम सैयद आलमगीर हुसैन (३५) है। वह प्रादेशिक सेना की इंजीनियरिंग रेजीमेंट का हवलदार है। उसे खारग्राम थानान्तर्गत एरोवाली गांव से गिरफ्तार किया गया है। वह गुजरात में पदस्थ है। हाल ही में दो महीने की छुट्टी में घर आया था। गत शनिवार को धर्मतला में हुई हाथापाई के बाद हेयर स्ट्रीट थाने में दर्ज शिकायत के आधार पर आलमगीर को गिरफ्तार किया गया है।
-------
भांगड़ में तृणमूल को नहीं मिली विरोध सभा की इजाजत
कोलकाता. भांगड़ में पार्टी कार्यालय पर हमले और तोडफ़ोड़ के आरोपों को लेकर तृणमूल कांग्रेस की ओर से प्रस्तावित विरोध सभा को कोलकाता पुलिस ने अनुमति देने से इंकार कर दिया है। मंगलवार को प्रशासन ने आदेश दिया कि 26 जनवरी तक कोई भी राजनीतिक दल हाथीशाला इलाके में प्रदर्शन नहीं कर पाएगा।
तृणमूल कांग्रेस का आरोप है कि आइएसएफ समर्थको ंने हाथीशाला स्थित उसके पार्टी कार्यालयों में तोडफ़ोड़ और आगजनी की थी। उसके कार्यकर्ताओं पर हमला किया गया था। जिसके विरोध में पार्टी ने रैली और सभा आयोजित करने की योजना बनाईथी। पुलिस प्रशासन ने अनुमति देने से इंकार कर दिया। इधर, पुलिस के आदेश के बाद जमीन जीविका रक्षा समिति ने भी मंगलवार की दोपहर पूर्व घोषित अपना कार्यक्रम वापस ले लिया। इससे पहले समिति के समर्थकों ने करीब चार घंटे तक सडक़ जाम रखी।
भांगड़ के युवा तृणमूल नेता हकीमुल इस्लाम ने बताया कि पुलिस प्रशासन का आदेश मिला है। राज्य नेतृत्व को सूचित कर दिया गया है। संगठन शीर्ष नेतृत्व के निर्देशों का पालन करेगा।
--------
नारेबाजी के बाद पीरजादों की लालबाजार में इंट्री
इधर, पुलिस हिरासत में मौजूद आइएसएफ विधायक नौशाद सिद्दिकी से लालबाजार मिलने पहुंचे फुरफु रा शरीफ के पीरजादो ंने नारेबाजी की। थोड़ी देर तक चली नारेबाजी के बाद पुलिस ने उन्हें नौशाद सिद्दिकी से मिलने की इजाजत दे दी। इससे पहले पीरजादा काशिम सिद्दीकी अन्य दो पीरजादों और समर्थकों के साथ लालबाजार पहुंचे। वे लालबाजार हिरासत में मौजूद नौशाद सिद्दिकी से मिलने की मांग कर रहेथे। पुलिस के रोके जाने पर नारेबाजी शुरू हो गई। प्रदर्शनकारियों ने कहा कि उन्हें रोके जाने पर आंदोलन तेज किया जाएगा। प्रदर्शनकारियों ने कहा कि विधायक नौशाद के सिर में चोट लगी है। उनकी आवश्यक नर्सिंग देखभाल नहीं की जा रही है। तीन दिन से उन्होंने कपड़े नहीं बदले हैं। पुलिस उनसे मिलने की इजाजत दे।
प्रदर्शनकारी एक पीरजादा ने कहा कि हमने ममता बनर्जी को राज्य की सत्ता तक पहुंचाया है और वे फुरफुरा शरीफ के पीरजादों के साथ अन्याय कर रही हैं। नौशाद के तीन भाइयों को प्रवेश करने की अनुमति देनी होगी नहीं तो और बड़ा आंदोलन होगा।
-------
हाइकोर्ट में याचिका दायर
इस बीच धर्मतला में हुई हिंसा के मामले में कलकत्ता हाई कोर्ट में जनहित याचिका दायर की गई है। याचिका में कहा गया है कि राजनीतिक दल के प्रदर्शन पर कोलकाता पुलिस ने अमानवीय लाठीचार्ज किया है। लाठीचार्ज में आइएसएफ विधायक नौशाद सिद्दीकी सहित कार्यकर्ता घायल हुए हैं।
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.