कोविड-19: बंगाल में भी आखिरी जंग का आगाज

आखिरकार जानलेवा महामारी कोविड-19 के खिलाफ पूरे देश के साथ पश्चिम बंगाल में भी आखिरी जंग की शुरुआत शनिवार को हो गई। सुबह 10.30 बजे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए दुनिया के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान की शुरुआत की। इसके बाद राज्य में भी कोरानावायरस रोधी टीकाकरण शुरू हो गया।

By: Rabindra Rai

Published: 16 Jan 2021, 11:05 PM IST

प्रक्रिया: पहले दिन 20700 स्वास्थ्य कर्मियों का टीकाकरण
राज्य के 6 लाख स्वास्थ्य कर्मी पहले चरण के दायरे में
कोलकाता. आखिरकार जानलेवा महामारी कोविड-19 के खिलाफ पूरे देश के साथ पश्चिम बंगाल में भी आखिरी जंग की शुरुआत शनिवार को हो गई। सुबह 10.30 बजे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए दुनिया के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान की शुरुआत की। इसके बाद राज्य में भी कोरानावायरस रोधी टीकाकरण शुरू हो गया। राज्य स्वास्थ्य विभाग की ओर से शनिवार शाम जारी बयान में बताया गया कि राज्य भर में 207 स्वास्थ्य केंद्रों पर टीकाकरण अभियान शुरू हुआ। इनमें राजधानी कोलकाता में 19 स्वास्थ्य केंद्र हैं जहां पहले चरण में स्वास्थ्य कर्मियों को कोविड-19 वैक्सीन लगाई गई है। बंगाल में कुल छह लाख स्वास्थ्य कर्मी हैं जिन्हें पहले चरण में टीका लगाया जाना है। केंद्र सरकार के नियमानुसार प्रत्येक स्वास्थ्य केंद्र पर एक दिन में केवल 100 लोगों को टीका लगाया गया यानी पश्चिम बंगाल में एक दिन में कुल 20 हजार 700 लोगों को टीका लगाया गया।
--
इन केन्द्रों में टीकाकरण
कोलकाता के एसएसकेएम, कोलकाता मेडिकल कॉलेज, आरजी कर मेडिकल कॉलेज, नीलरतन सरकार मेडिकल कॉलेज, नेशनल मेडिकल कॉलेज, चितरंजन सेवा सदन, स्कूल ऑफ ट्रॉपिकल मेडिसिन, बिधान चंद्र रॉय शिशु अस्पताल, बेलियाघाटा आईडी, एमआर बांगुर अस्पताल और विभिन्न बोरों में मौजूद स्वास्थ्य केंद्रों पर टीकाकरण की शुरुआत की गई है। इसके अलावा कोलकाता के पांच बड़े सरकारी अस्पतालों जिसमें ढाकुरिया का आमरी अस्पताल, रवींद्रनाथ टैगोर हॉस्पिटल, अपोलो, पीयरलेस और टाटा मेडिकल सेंटर में भी टीकाकरण शुरू हुआ है। इसके अलावा राज्य के सभी जिलों में मौजूद राजकीय अस्पतालों में स्वास्थ्य कर्मियों को टीका लगाया गया।
--
मानव जाति के लिए बहुत बड़ा दिन: सेठ
अस्पताल के अधिकारियों ने बताया कि बिपाशा सेठ राज्य में टीका लगवाने वाली पहली व्यक्ति हैं। सेठ ने कहा कि यह मानव जाति के लिए बहुत बड़ा दिन है। मैं पहली खुराक पाकर बहुत खुश हूं। अधिकारियों ने बताया कि राज्य के मंत्री निर्मल माजी ने भी कोलकाता मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में कोविशील्ड टीका लगवाया।
--
इनको नहीं दिया जाएगा टीका
स्वास्थ्य सेवा निदेशक प्रोफेसर डॉ अजय चक्रवर्ती ने बताया कि गर्भवती महिलाओं के अलावा कैंसर व एड्स संक्रमित लोगों को कोरोना वायरस रोधी टीका नहीं दिया जाएगा। शनिवार को गर्भवती महिला स्वास्थ्यकर्मियों को टीका नहीं लगाया गया।
-
दो विधायकों ने लगवाया टीका
सत्तारूढ़ पार्टी के दो विधायकों ने कोविड-19 का टीका लगवा लिया। उनकी पहचान भातार के विधायक सुभाष मंडल और कटवा के विधायक रवींद्रनाथ चटर्जी के रूप में की गई है। हालांकि केंद्र सरकार ने स्पष्ट रूप से कहा है कि केवल स्वास्थ्य कर्मी और महामारी के खिलाफ जंग की अग्रिम पंक्ति के कार्यकर्ता ही पहले चरण में टीकाकरण के पात्र हैं।

Rabindra Rai Editorial Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned