कूचबिहार एयरपोर्ट को फिर से शुरू करने का कवायद तेज

कूचबिहार एयरपोर्ट को फिर से शुरू करने का कवायद तेज

Vanita Jharkhandi | Updated: 22 Jul 2019, 01:49:16 PM (IST) Kolkata, Kolkata, West Bengal, India

- रनवे को बढ़ाने का किया जा रहा प्रयास
- छोटे-छोटे एयरक्राफ्ट के जरिए आस-पास के शहरों को छूने की कोशिश

 

कोलकाता . बंगाल का कूचबिहार एयरपोर्ट वैसे तो पूरी तरह से तैयार है, इसके बावजूद यहां से एयरक्राफ्ट की आवाजाही नहीं हो रही है। एयरपोर्ट को मेंटेनेंस के लिए काफी नुकसान एयरपोर्ट ऑथोरिटी को उठाना पड़ रहा है। ममता बनर्जी के मुख्यमंत्री बनने के बाद से ही कूचबिहार एयरपोर्ट को चालू करने का प्रयास किया गया, पर कोई लाभ नहीं हुआ। इसके पीछे रनवे का छोटा होना प्रमुख कारण है। रनवे की लम्बाई कम होने के कारण यहां से छोटे एयरक्राफ्ट उड़ तो सकते हैं, पर बड़े एयरक्राफ्टों को उड़ान भरना सम्भव नहीं हो पा रहा है।

रनवे को बढ़ाने की कोशिश

एयरपोर्ट के डायरेक्टर विप्लव कुमार मण्डल का कहना है कि कूचबिहार छोटे एयरक्राफ्ट के लिए तैयार है। 19 सीटों या 22 सीटों वाला विमान उड़ाया जा सकता है।

कूचबिहार का रनवे छोटा होने के कारण यहां से बड़े विमान के लिए आवागमन करना सम्भव नहीं है। यहां से तकरीबन 19 सीटों वाला विमान चलाया जाएगा। कूचबिहार में रनवे को बड़ा करने के लिए भी सोचा जा रहा है। मालूम हो कि कूचबिहार हवाई अड्डा का रनवे 1069 मीटर है। इस रनवे से छोटा विमान ही आवागमन कर सकेगा। पर 32 और 40 सीटों के विमान के लिए रनवे को कम से कम 1200 मीटर का होना जरूरी है। रनवे के बीच में तोर्षा नदी पड़ रही है, उसके उपर से बॉक्स कलवर्ट बनाकर रनवे को 430 मीटर बढ़ाने की योजना है।
दूसरी ओर स्थानीय सांसद निशीथ प्रमाणिक कूचबिहार एयरपोर्ट से विमानों की आवाजाही के लिए तत्पर हैं। उनका कहना है कि रनवे को बढ़ाने के लिए जो भी प्रयास करना होगा, उसे करने को वे तैयार हैं। जो भी समस्या आ रही है उसे दूर की जाएगी। इसके लिए सरकार की ओर से पूरा सहयोग देने का भी आश्वासन दिया है। मालूम हो कि 2015 में कूचबिहार एयरपोर्ट से उड़ान शुरू हुई थी। पर लाभ नहीं होने पर एयरलाइन्स का इस ओर विशेष ध्यान नहीं है। एयरपोर्ट का फायदा लोगों तक पहुंचे और एयरलाइन्स को भी यात्री मिले, इसके लिए बड़े एयरक्राफ्ट की जरूरत महसुस की जा रही है।

इनका कहना है...

हमारा प्रयास है कि एयरपोर्ट का इस्तेमाल किया जाए। यहां से 22 सीटों वाले एयरक्राफ्ट का इस्तेमाल हो सकता है। इसके लिए फिलहाल कोई एयरलाइन्स नहीं आई है, पर प्रयास चल रहा है कि यहां से उड़ान सेवा चालू हो सके। साथ ही बड़े एयरक्राफ्ट के लिए भी रनवे के विस्तार का कार्य करने की भी योजना है।

विप्लव कुमार मण्डल, एयरपोर्ट निदेशक, कूचबिहार

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned