Bengal: सीबीआई के खिलाफ कार्रवाई पर विचार कर रही विधानसभा

विधानसभा अध्यक्ष की अनुमति के बिना राज्य के दो मंत्रियों और एक विधायक तथा पूर्व मेयर को गिरफ्तार करने के जवाब में पश्चिम बंगाल विधानसभा सचिवालय केन्द्रीय जांच एजेंसी सीबीआई के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने पर विचार कर रहा है। विधानसभा के सूत्रों ने बताया कि खुद को अंधकार में रखकर सीबीआई की ओर से राज्य के दो मंत्रियों और एक विधायक को गिरफ्तार किए जाने से राज्य विधानसभा अध्यक्ष विमान बनर्जी नाराज है।

By: Rabindra Rai

Updated: 20 May 2021, 08:39 PM IST

पलटवार: राज्य विधानसभा अध्यक्ष विमान बनर्जी हैं नाराज
अनुमति के बगैर दो मंत्रियों और एक विधायक की गिरफ्तारी का मामला
कोलकाता. विधानसभा अध्यक्ष की अनुमति के बिना राज्य के दो मंत्रियों और एक विधायक तथा पूर्व मेयर को गिरफ्तार करने के जवाब में पश्चिम बंगाल विधानसभा सचिवालय केन्द्रीय जांच एजेंसी सीबीआई के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने पर विचार कर रहा है। विधानसभा के सूत्रों ने बताया कि खुद को अंधकार में रखकर सीबीआई की ओर से राज्य के दो मंत्रियों और एक विधायक को गिरफ्तार किए जाने से राज्य विधानसभा अध्यक्ष विमान बनर्जी नाराज है।
नियमानुसार राज्य के विधायकों या मंत्रियों के खिलाफ कोई कानूनी कार्रवाई करने या गिरफ्तार करने से पहले विधानसभा अध्यक्ष और सचिवालय को सूचित करना होता है। शोभन चटर्जी को छोड़कर नारद स्टिंग कांड में गिरफ्तार तीन विधानसभा के सदस्य हैं। इसलिए उन्हें गिरफ्तार करने के लिए विधानसभा अध्यक्ष और सचिवालय को पहले से सूचित करना चाहिए था। विमान बनर्जी ने दावा किया कि न तो उन्हें और न ही सचिवालय में किसी को उक्त गिरफ्तारी के बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई। गिरफ्तारी के एक दिन बाद एक पत्र में उन्हें पूरे मामले की जानकारी दी गई, जो नियमों के खिलाफ है।
--
भेजा जा सकता है जवाबी पत्र
विमान बनर्जी ने बताया कि जिस तरह से फिरहाद हकीम और सुब्रत मुखर्जी को गिरफ्तार किया गया है, वह पूरी तरह से असंवैधानिक है। सीबीआई ने इस बारे में उन्हें कुछ नहीं बताया और न ही हमें कोई पत्र दिया। सूत्रों के मुताबिक इस बार विधानसभा सचिवालय की ओर से सीबीआई को जवाबी पत्र भेजा जा सकता है। जरूरत पडऩे पर कानूनी कार्रवाई भी की जा सकती है। हालांकि विधानसभा अध्यक्ष ने इस मुद्दे पर मीडिया के सामने अपना मुंह नहीं खोला। उन्होंने कहा कि वे नहीं चाहते कि मीडिया में अभी इस बारे में प्रकाशित हो। वे तय करेंगे कि यह उनके अधिकार क्षेत्र में आता है या नहीं।
--
सीबीआई के खिलाफ एक और प्राथमिकी
नारद स्टिंग ऑपरेशन मामले में राज्य के परिवहन मंत्री फिरहाद हकीम, सुब्रत मुखर्जी तथा विधायक मदन मित्रा और पूर्व मेयर शोभन चटर्जी की गिरफ्तारी को लेकर तृणमूल कांग्रेस ने सीबीआई के खिलाफ एक और प्राथमिकी दर्ज कराई है। स्वास्थ्य राज्यमंत्री चंद्रिमा भट्टाचार्य ने इसकी जानकारी दी। उन्होंने बताया कि कोलकाता के गरियाहाट थाने में उन्होंने लिखित शिकायत दर्ज कराई थी जिसके बाद उसे प्राथमिकी में तब्दील किया गया है। कोलकाता पुलिस सूत्रों ने बताया कि चंद्रिमा की शिकायत के आधार पर सीबीआई अधिकारियों के खिलाफ भारतीय दंड विधान की धारा 166, 166 ए, 188 और 34 के तहत मामला दर्ज किया गया है। इसके अलावा आपदा प्रबंधन कानून की धाराओं के तहत भी मामले दर्ज किए गए हैं। आरोप है कि संपूर्ण लॉक डाउन होने के बावजूद गैरकानूनी तरीके से सीबीआई की टीम सेंट्रल फोर्स के साथ इन नेताओं के घर में घुसी और उन्हें जबरदस्ती उठाकर ले गई । पुलिस ने जांच शुरू कर दी है।
--
कोलकाता पुलिस ने दर्ज किया मामला
सीबीआई मुख्यालय निजाम पैलेस के सामने कथित तृणमूल समर्थकों की ओर से किए गए उग्र प्रदर्शन को लेकर कोलकाता पुलिस ने दो दिन बाद बुधवार को मामला दर्ज किया। शेक्सपीयर सरणी थाने में अज्ञात लोगों के खिलाफ भारतीय दंड विधान (भदवि) की धारा-147/148/149 के तहत मामला दर्ज किया गया है।
सोमवार को हैवीवेट नेताओं की गिरफ्तारी के बाद कोविड-19 के प्रोटोकॉल का उल्लंघन करते हुए बड़ी संख्या में प्रदर्शनकारी निजाम पैलेस के सामने जमा हो गए थे। राजभवन तथा कोलकाता एवं राज्य के अन्य इलाकों में भी उग्र विरोध-प्रदर्शन किया गया था। इसके बाद कोलकाता पुलिस हरकत में आई है।

Rabindra Rai Editorial Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned