फोन नम्बर ब्लाक करने का डर दिखा कर भेजा लिंक, खोलने पर एकाउंट से 11 लाख रुपए गायब, तीन गिरफ्तार

ओटीपी मिलते ही एकाउंट से 11 लाख रुपए गायब। विधाननगर कमीशनरेट की पुलिस ने पूर्व मिदनापुर से आरोपियों को गिरफ्तार किया।

By: Vanita Jharkhandi

Published: 12 Feb 2021, 04:27 PM IST


विधाननगर
फोननम्बर को ब्लाक करने की बात बताकर एक लिंक भेजा। ओटीपी मिलते ही एकाउंट से 11 लाख रुपए गायब। विधाननगर कमीशनरेट की पुलिस ने पूर्व मिदनापुर से आरोपियों को गिरफ्तार किया। पुलिस सूत्रों के अनुसार विधाननगर पूर्व पीएस में बीजी - 40, साल्टलेक, सेक्टर-2 में रहने वाले मानव मेहरा ने थाने में शिकायत दर्ज की है कि उसे पिता को एक फोन आया था जिसमें बताया गया कि जैसा वह बता रहे है वैसा नहीं किया तो फोन ब्लाक कर दिया जाएगा। इसके बाद ही उनके फोन पर एक लिंक आया जिसके बाद ही एक ओटीपी आई जिसे साझा की गई। ओटीपी के साझा करते ही कई बार में उनके एकाउंच से 11,00,000 रुपए निकाल लिए गए। विधाननगर पूर्व पुलिस स्टेशन ने जांच करते हुए तीन आरोपी संतनु प्रधान उर्फ बाबू (28 वर्ष) एगरा का रहने वाला, एगरा के सौगाता बारपांडा (29 वर्ष) तथा नोबो कुमार पात्रा (29 वर्ष) को 10 फरवरी को पूर्व मेदिनीपुर के एगरा पुलिस स्टेशन क्षेत्र से गिरफ्तार किया गया था। गिरफ्तार आरोपी सौगाता बारापंडा और नाबा कुमार पात्रा वोडाफोन आइडिया लिमिटेड के वितरक हैं।
इस अपराध में मुख्य आरोपी में से एक की जांच के दौरान आसिफ खान (25) पश्चिम बर्दवान को 25 जनवरी इस मामले के सिलसिले में गिरफ्तार किया गया था।उसके पास से भारी संख्या में फर्जी सिम जाली आधार कार्ड का उपयोग करके निर्दोष लोगों को धोखा देने के लिए किया गया। उक्त गिरफ्तार अभियुक्तों (डिस्ट्रीब्यूटर) के मास्टर सिम कार्ड का उपयोग करके उन्होंने झूठे रिटेलर भी बनाए। उनके कब्जे से दो मास्टर सिम कार्ड, दो ई-टॉप-अप सिम कार्ड, चार मोबाइल फोन, दो आधार कार्ड जब्त किए गए है।

Vanita Jharkhandi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned