महाशिवरात्रि आज : भक्तों के लिए रात 12 बजे से खुला भूतनाथ मंदिर का कपाट

- सोमवार रात 4 पहर तक होगी पूजा-अर्चना

- मंदिर में उमड़ेगी शिव भक्तों की भीड़

By: Ashutosh Kumar Singh

Published: 03 Mar 2019, 10:14 PM IST

कोलकाता

महाशिवरात्रि के अवसर पर बाबा भूतनाथ मंदिर का कपाट रविवार मध्य रात से खुल जाएगा। मंदिर के प्रधान पुजारी छत्रपाल ठाकुर ने बताया कि सोमवार को श्रद्धालुओं के लिए दिन भर बाबा का दरवाजा खुला रहेगा। इस दिन विशेष पूजा-अर्चना होगी। भक्तों की भीड़ को देखते हुए पूजा के समय में परिवर्तन किया जा सकता है। मंदिर का कपाट मंगलवार को रात 10 बजे बंद होगा। महाशिवरात्रि के इस आयोजन में हिन्दू सत्कार समिति, कोलकाता पुलिस और सिविल डिफेंस का विशेष योगदान है। प्रधान पुजारी सदस्य महेश ठाकुर, धीरेन्द्र पात्र, गणेश ठाकुर व छत्रपाल ठाकुर की देखरेख में महाशिवरात्रि का आयोजन होगा। भीड़ को देखते हुए मंदिर प्रबंधन की ओर से विशेष व्यवस्था की गई है। वैसे बाबा भूतनाथ मंदिर में सालों पर भक्तों का तांता लग रहता है, लेकिन सावन व महाशिवरात्रि के अवसर पर यहां भक्तों की संख्या काफी बढ़ जाती है।

्र
होती है मनोकामना पूर्ण

वृहत्तर कोलकाता में हुगली नदी के तट पर नीमतल्ला घाट शमशान भूमि पर बाबा भूतनाथ का प्राचिन मंदिर करीब 300 साल पुरान है। मान्यता है कि मंदिर में साक्षात भगवान शिव विराजमान हैं। बाबा के दरवार में जो भक्त सच्चे मन से आता है उस भक्त की मनोकामना पूर्ण होती है।

चिता भस्म से होता है बाब का श्रृंगार

बाबा भूतनाथ की पूजा विधान का तरीका बेहद अनोखा है। उज्जैन महाकाल मंदिर के जैसे ही बाबा भूतनाथ का दिन में दो बार चिता भस्म से श्रृंगार किया जाता है। बाबा को जल चढ़ाने से भक्त को विशेष फल मिलता है। यहां देश-विदेश से आने वाले श्रद्धालु गंगाजल, पुष्प, धतुरा, दूध, दही और शहद से बाबा का अभिषेक करते हंै।

फूलों से की गई सजावट

भूतनाथ मंदिर को फूलों से सजाया गया है।मंदिर के भीतर शिव-पार्वती की झांकी बनाई गई है। यहां पर देवाधिदेव महादेव के अलावा माता पार्वती, गणेश, बजरंगबली व नंदी महाराज मौजूद हैं। ब्रम्हलीन प्रधान पुजारी महिपाल ठाकुर की प्रतिमा की भी सजावट की गई है।

Ashutosh Kumar Singh Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned