ममता सरकार का निजी बस मालिकों के लिए बड़ा फैसला, मिलेगा अनुदान

डीजल के मूल्यों में अप्रत्याशित वृद्धि को लेकर निजी बस मालिक समस्या के शिकार हो रहे हैं। अनलॉक-1 के दौरान स्वास्थ्य विधि के अनुरूप बस सेवा के सरकारी फरमान के कारण बस मालिकों को दैनिक हजारों रुपए का नुकसान उठाना पड़ रहा है।

By: Prabhat Kumar Gupta

Published: 26 Jun 2020, 07:07 PM IST

कोलकाता.
डीजल के मूल्यों में अप्रत्याशित वृद्धि को लेकर निजी बस मालिक समस्या के शिकार हो रहे हैं। अनलॉक-1 के दौरान स्वास्थ्य विधि के अनुरूप बस सेवा के सरकारी फरमान के कारण बस मालिकों को दैनिक हजारों रुपए का नुकसान उठाना पड़ रहा है। ऐसे में राज्य सरकार मानवता के आधार पर बस मालिकों को अगले 3 महीने तक 15,000 रुपए की आर्थिक सहायता करेगी।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शुक्रवार को सचिवालय नवान्न में इसकी घोषणा की। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार आम लोगों के हितों में बस किराया नहीं बढ़ाने के बावजूद बस मालिकों को राहत पहुंचाते हुए यह निर्णय लिया है। इससे राज्य सरकार के खजाने पर 27 करोड़ का बोझ बढ़ेगा। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार केवल बस मालिकों को ही नहीं बल्कि बस चालकों व कंडक्टर को भी राहत पहुंचाने का प्रयास कर रही है। सरकार उन्हें स्वास्थ्य साथी बीमा योजना के दायरे में लाने का निर्णय किया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि उनका यह निर्णय 1 जुलाई से प्रभावी होगा। इस संबंध में सरकार की बस मालिकों के संगठन और यूनियनों के साथ बातचीत भी हुई है उन लोगों ने सरकार के इस निर्णय का स्वागत किया है। उल्लेखनीय है कि राज्य में 6000 निजी बस व मिनी बस है।
और 500 सरकारी बसें:
मुख्यमंत्री ने कहा कि बसों की संख्या कम होने के कारण लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है इसे देखते हुए राज्य सरकार ने 1 जुलाई से और 500 सरकारी बसें उतारने का निर्णय लिया है। ताकि लोगों को अपने गंतव्य तक जाने में हलकान नहीं होना पड़े।

Show More
Prabhat Kumar Gupta Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned