CM Mamta's big claim: ममता ने किया बंगाल से 40 प्रतिशत बेरोजगारी मिटने का दावा

CM Mamta's big claim: ममता ने किया बंगाल से 40 प्रतिशत बेरोजगारी मिटने का दावा

Manoj Kumar Singh | Updated: 19 Jul 2019, 04:27:27 PM (IST) Kolkata, Kolkata, West Bengal, India

कहा, लेदर कॉम्प्लेक्स में होंगे 80 हजार करोड़ निवेश और 5 लाख लोगों को मिलेगा रोजगार

 

कलकत्ता लेदर कम्पलेक्स का नाम बदल कर कर्म दिगंत रखा

कोलकाता

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने गुरुवार को महानगर से सटे उत्तर 24 परगान जिले के बानतल्ला स्थित कलकत्ता लेदर कॉम्प्लेक्श में और 80 हजार करोड़ रुपए निवेश होने, पांच लाख लोगों को रोजगार मिलने और पश्चिम बंगाल से 40 प्रतिशत बेरोजगारी मिटाने का दावा किया। उन्होंने लेदर कॉम्प्लेक्स का नाम बदल कर कर्म दिगंत रखने की घोषणा की।

कलकत्ता लेदर कॉम्प्लेक्स में इस दिन आयोजित नई परियोजनाओं का शिलान्यास समारोह में आए लोगों को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने बंगाल में बेरोजगारी की करीब आधी समस्या समाप्त करने का दावा भी किया। उन्होंने कहा कि देश में बेरोजगारी की समस्या बढ़ रही है और हमारी सरकार के प्रयास से बंगाल में रोजगार के अवसर बढ़ रहे हैं। बंगाल में 40 प्रतिशत बेरोजगारी समाप्त हो गई है।

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश के कानूनपुर में चमड़ा उद्योग सिकुड़ता जा रहा है और वहां के व्यवसायी कोलकाता आ रहे हैं। इस चमड़ा हब को पूर्ण रुप से प्रदूषण मुक्त करने के लिए चार ट्रीटमेन्ट प्लांट लगाए गए हैं और दो ट्रीटमेन्ट प्लांट लगाए जाएंगे। इसके बाद लेदर कॉम्प्लेक्स में 80 हजार करोड़ रुपए नया निवेश होगा और नए सिरे से पांच लाख नए रोजगार सृजन होंगे।

इस दौरान राज्य के वित्तमंत्री अमित मित्रा, आपदा प्रबंधन और एचएमआईसी मंत्री जावेद खान, शहरी विकास मंत्री, मंत्री अब्दुल रज्जाक मोल्ला, परिवहन सचिव अलापन बंद्योपाध्याय, उद्योगपति हर्ष नेवटिया के अलावा आईएलपीए और सीएलपी टेनरी एसोसिएशन के पदाधिकारी उपस्थित थे।

उन्होंने कहा कि इसके अलावा दूसरे जिलों में लेदर कॉम्प्लेक्स तैयार किए जा रहे है। जल्द ही उनका काम पूरा होगा, जहां प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रुपए अतिरिक्त एक लाख नया रोजगार सृजन होगा।

शिलान्यास समारोह में आए गणमान्य लोगों को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि आने वाले दिनों में यह विश्व का सबसे बड़ा चमड़ा हब और विश्व का प्रवेश द्वार बनेगा।

यहां से दूसरे देशों में चमड़ा के सामान निर्यात होंगे। उन्होंने कहा कि कानपुर से आए चमड़ा व्यवसायियों को लेदर कॉम्प्लेक्स में जमीन मालिकों से जमीन खरीदना होगा और लेकिन यहां उद्योग लगाने वालों को सरकार इनसेंटिव देगी।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned