शुभेन्दु अधिकारी पर शिकंजा : ममता सरकार ने भाजपा नेता के पूर्व बॉडीगार्ड की मौत के मामले की जांच सीआईडी को सौंपी

  • शुभेंदु के बॉडीगार्ड की लगभग तीन साल पहले संदिग्ध हालात में मौत हो गई थी। बॉडीगार्ड की पत्नी सुपर्णा चक्रवर्ती ने हाल ही में पति की संदिग्ध हालात में मौत के मामले में सवाल उठाते हुए नए सिरे से शिकायत दर्ज कराई है। सुपर्णा का आरोप है कि उसके पति की हत्या की गई है। पुलिस ने सुपर्णा की शिकायत पर भारतीय दंड विधान (भादवि) की धारा 302 और 120 के तहत मामला दर्ज किया है...

By: Ashutosh Kumar Singh

Published: 12 Jul 2021, 02:13 PM IST

कोलकाता
पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी सरकार ने भाजपा नेता शुभेन्दु अधिकारी पर शिकंजा कसने की तैयारी कर रही है। राज्य सरकार ने शुभेंदु अधिकारी के पूर्व बॉडीगार्ड सुब्रत चक्रवर्ती की मौत की जांच अब सीआईडी को सौंप दी है। सीआईडी के एक अधिकारी ने सोमवार को इसकी जानकारी दी।
शुभेंदु के बॉडीगार्ड की लगभग तीन साल पहले संदिग्ध हालात में मौत हो गई थी। बॉडीगार्ड की पत्नी सुपर्णा चक्रवर्ती ने हाल ही में पति की संदिग्ध हालात में मौत के मामले में सवाल उठाते हुए नए सिरे से शिकायत दर्ज कराई है। सुपर्णा का आरोप है कि उसके पति की हत्या की गई है। पुलिस ने सुपर्णा की शिकायत पर भारतीय दंड विधान (भादवि) की धारा 302 और 120 के तहत मामला दर्ज किया है।
वर्ष 2018 में शुभेंदु अधिकारी के बॉडीगार्ड सुब्रत चक्रवर्ती को मेदिनीपुर जिला स्थित उसके किराए के घर में खूल से लथपत हालत में पाया गया था। उसे गोली लगी थी। पास में उसकी सर्विस रिवाल्वर भी पड़ी हुई थी। गंभीर हालत में कोलकाता के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां अगले दिन उनकी मौत हो गई थी। उस समय में दावा किया गया था कि उसने खुद से गोली मारकर आत्महत्या की है।
उल्लेखनीय है कि शुभेंदु अधिकारी ममता बनर्जी पिछली सरकार में मंत्री थे। इसबार विधानसभा चुनाव के पहले वे भाजपा में शामिल हो गए हैं और नंदीग्राम सीट से ममता बनर्जी को पराजित कर विधायक चुने गए हैं। वर्तमान में वे नेता प्रतिपक्ष हैं।
---
राजनीति प्ररेरितः शुभेन्दु
पूर्व बॉडीगार्ड की आत्महत्या मामले की नए सिरे से जांच को शुभेंदु अधिकारी ने राजनीति से प्रेरित बताया है। उन्होंने कहा कि मामले का निपटारा होने के दो साल बाद नए सिरे से जांच कर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी उन्हें डराने की कोशिश ना करें। वे मुझे जेल जाने के लिए कहेंगी तो उनकी वरिष्ठता का सम्मान करे हुए जेल जाने के लिए भी तैयार हैं।

Ashutosh Kumar Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned