ममता ने की नेताजी के जन्मदिन पर सरकारी समिति की घोषणा

-जल्द होगी समिति की बैठक
-बनाई जाएगी एक साल के कार्यक्रम की सूची

By: Rajendra Vyas

Published: 27 Nov 2020, 08:50 PM IST

कोलकाता . कुछ दिनों पहले मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर मांग की थी कि नेताजी सुभाष चंद्र बोस के जन्मदिन को राष्ट्रीय अवकाश घोषित किया जाए। इस बार मुख्यमंत्री ने नेताजी की जयंती पर एक विशेष समिति बनाने की घोषणा की। गुरुवार को राज्य सचिवालय में मीडिया से मुखातिब मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बताया कि वह स्वयं इस समिति के अध्यक्ष होंगी। समिति में नोबेल पुरस्कार विजेता अमत्र्य सेन, अर्थशास्त्री अभिजीत बिनायक बंद्योपाध्याय, वित्त मंत्री अमित मित्रा, लेखक शिर्षेंदु मुखर्जी, कवि शंख घोष, रुद्र प्रसाद सेनगुप्ता, जोगेन चौधरी, जय गोस्वामी, सुबोध सरकार, ब्रात्य बसु व नेताजी के परिवार से सुगत बसु, सुमंत्र बसु, मुख्य सचिव, गृह सचिव, वित्त सचिव, महानिदेशक, राज्य सुरक्षा सलाहकार, कलकत्ता पुलिस के सी.पी. सहित कई विश्वविद्यालयों के कुलपति भी शामिल होंगे, जिनमें कलकत्ता, जादवपुर और प्रेसीडेंसी विश्वविद्यालयों के कुलपति शामिल हैं। राज्य के मुख्य सचिव अलापन बंद्योपाध्याय ने कहा, "यह समिति नेताजी की जयंती पर जल्द ही बैठक करेगी। यह कार्यक्रम अगले एक वर्ष तक जारी रहेगी *****
मुख्यमंत्री ने कहा, "राज्य सरकार को जो करना था वह किया जा चुका है। हमने वह जानकारी सार्वजनिक कर दी है जो पुलिस या सरकारी खजाने में थी। तब भी सारी जानकारी ज्ञात नहीं है। लेकिन हमें लगता है कि हम इस साल इस बारे में जानेंगे। ममता ने केंद्र पर निशाना साधते हुए कहा कि केंद्र सरकार ने इस बारे में सब कुछ जारी करने का वादा किया था, लेकिन अभी तक कुछ भी करने में सक्षम नहीं है। हमने सभी कागजात सार्वजनिक कर दिए हैं, लेकिन केंद्र सरकार ने ऐसा नहीं किया है। हालांकि उन्होंने कहा कि वह ऐसा करेंगे।
मुख्यमंत्री को उम्मीद है कि इस समिति के गठन के साथ, अन्य राज्य भी इसका पालन करेंगे। नेताजी के बारे में बहुत सारी जानकारी अभी तक सार्वजनिक नहीं की गई है मुख्यमंत्री ने आरोप लगाया कि केंद्र ने घोषणा करने के बाद भी कुछ नहीं किया हालांकि, उन्होंने दावा किया कि राज्य के हाथों में सभी जानकारी दी गई है सीएम मे कहा, "हम सभी नेताजी के जन्मदिन को जानते हैं, लेकिन हम अभी भी नहीं जानते कि उनकी मृत्यु कब हुई।"

Rajendra Vyas Editorial Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned