भाजपा ने नोटबंदी से पहले खरीदी करोड़ों की जमीन-ममता

भाजपा ने नोटबंदी से पहले खरीदी करोड़ों की जमीन-ममता
mamta banerjee in vidhansabha

Paritosh Dubey | Publish: Dec, 05 2016 10:12:00 PM (IST) Kolkata, West Bengal, India

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भाजपा पर नोटबंदी से पहले करोड़ों की जमीन खरीदने का आरोप लगाया है। 

कोलकाता.

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भाजपा पर नोटबंदी से पहले करोड़ों की जमीन खरीदने का आरोप लगाया है। केंद्र के खिलाफ अपने बगावती तेवरों को धार देते हुए उन्होंने कहा कि गहरी साजिश के तहत नोटबंदी का निर्णय लिया गया। नोटबंदी से पहले भाजपा ने सितम्बर और अक्टूबर के बीच बंगाल, बिहार समेत दूसरे राज्यों में करोड़ों की जमीन खरीदी है। इससे स्पष्ट है कि भाजपा नेतृत्व देश में नोटबंदी की घोषणा होने की बात से अवगत था। मुख्यमंत्री ने नोटबंदी की आड़ में बड़ा घोटाला होने की आशंका जताई है।  राजनीतिक दलों के खातों में अज्ञात श्रोत से जमा हुई राशि का खुलासा होना चाहिए। मुख्यमंत्री ने सुप्रीम कोर्ट के रिटायर्ड जज से मामले की जांच कराने की मांग की। बनर्जी ने सोमवार को पहली बार विधानसभा की कार्रवाई के दौरान नोटबंदी के खिलाफ वक्तव्य रखा। इस मुद्दे पर उन्होंने विपक्ष से सहयोग की अपील की। सदन में नोटबंदी के खिलाफ बहस में हिस्सा लेते हुए मुख्यमंत्री ने कुछ कागजात दिखाते हुए कहा कि भाजपा ने पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना, हुगली और कई अन्य इलाकों में जमीन खरीदी गई है। 

गरीब और साधारण लोग परेशान 
मुख्यमंत्री ने कहा कि नोटबंदी के कारण जहां गरीब और साधारण जनता परेशान हैं वहां प्रधानमंत्री मोबाईल एप्प और पेटीएम की बात कर रहे हैं। ममता ने कहा कि राज्य के 3570 गांवों में ना तो बैंकों की शाखाएं हैं और ना ही डाकघर है। इस वास्तविकता से प्रधानमंत्री बेखबर हैं। ग्रामीण अर्थ व्यवस्था को दुरुस्त करने में विफल प्रधानमंत्री देश की जनता को प्लास्टिक कार्ड के इस्तेमाल और मोबाइल बैंकिंग की नसीहत दे रहे हैं।
तृणमूल सुप्रीमो ने कहा कि प्रधानमंत्री अब स्विस बैंक का नाम नहीं ले रहे हैं। लोकसभा चुनाव के दौरान मोदी ने 34 लाख करोड़ कालेधन विदेशों में खासकर स्विस बैंक में होने का दावा किया था।
अघोषित आपातकाल 
मुख्यमंत्री ने कहा कि नोटबंदी की घोषणा कर केंद्र ने देश में अघोषित आपातकाल लागूू कर दिया गया है। 70 के दशक में इंदिरा गांधी के कार्यकाल में जारी आपातकाल का राष्ट्रीय स्तर पर आंदोलन हुआ था। वर्तमान में अघोषित आपातकाल चल रहा है।
प्रधानमंत्री पर प्रहार करते हुए ममता ने कहा कि नोटबंदी की घोषणा करने के बाद से मोदी खुद को भगवान समझने लगे हैं। पश्चिम बंगाल में उनकी कोई भी राजनीतिक चाल सफल होने वाली नहीं है।

राज्य में नोटों की सप्लाई धीमी 
मममता ने कहा कि केंद्र का पश्चिम बंगाल के साथ भेदभाव जारी है। नोटबंदी के बाद बंगाल में जानबूझकर बैंक नोटों की सप्लाई धीमी रखी गई है। राज्य सरकार ने अपने कर्मचारियों को सैलरी के लिए रिजर्व बैंक से रकम उपलब्ध कराने का आग्रह किया था, पर कोई लाभ नहीं हुआ। सहकारी बैंकों को रुपए देना बंद कर दिया। छोटे नोटों की किल्लत हो रही है।
उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा के समक्ष घुटने टेकने वाले राज्यों को हर तरह की सुविधा दी जा रही है। उल्लेखनीय है कि संसदीय कार्य मंत्री डॉ. पार्थ चटर्जी ने इस दिन नोटबंदी के खिलाफ सदन में सरकारी प्रस्ताव लाया। जिस पर बहस जारी रही। 
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned