छावनी में तब्दील हुआ महानगर

छावनी में तब्दील हुआ महानगर

Rakesh Mishra | Publish: May, 17 2019 11:04:55 PM (IST) | Updated: May, 17 2019 11:04:56 PM (IST) Kolkata, Kolkata, West Bengal, India

 

-शांतिपूर्ण व निष्पक्ष मतदान के लिए कोलकाता पुलिस ने कसी कमर
-रविवार को कोलकाता उत्तर व दक्षिण, डायमंड हार्बर, सहित राज्य के ९ सीटों पर होगा मतदान

छावनी में तब्दील हुआ महानगर

-शांतिपूर्ण व निष्पक्ष मतदान के लिए कोलकाता पुलिस ने कसी कमर
-रविवार को कोलकाता उत्तर व दक्षिण, डायमंड हार्बर, सहित राज्य के ९ सीटों पर होगा मतदान

कोलकाता
लोकसभा चुनाव के ७ वें व आखिरी चरण के मतदान के लिए चुनाव आयोग ने राज्य की सभी नौ सीटों पर १०० फीसदी केन्द्रीय बल (सीएपीएफ )के जवान तैनात करने के निर्देश दिए हैं। वहीं कोलकाता पुलिस ने भी शांतिपूर्ण मतदान के लिए कमर कस ली है। कोलकाता पुलिस के क्षेत्राधिकार वाले १५७५ मतदान केन्द्र और ४७५५ पोलिंग बूथों पर केन्द्रीय बल के जवानों के साथ कोलकाता पुलिस के जवान भी तैनात रहेंगे। प्रत्येक थाने में २ क्यूआरटी की टीम रहेगी। ७५ आरटी मोबाइल, एसआरएफएस, रीवर पेट्रोलिंग टीम, २७५ सेक्टर मोबाइल तैनात रहेंगे। महानगर में विभिन्न क्रासिंग पर १८० पुलिस पिकेट बिठाया गया है। १८ नाके बनाकर ५३ एफएसटी व ६० एसएसटी टीम को तैनात किया गया है। ८० जगह पर नाका चेकिंग चल रही है। मतदान के दिन डीसी(उपायुक्त) व आयुक्त पद के पुलिस अधिकारी सभी गतिविधियों पर नजर रखेंगे। शुक्रवार रात १० बजे से क्यूआरटी अपनी पोजीशन संभाल लेंगी। प्रत्येक क्यूआरटी टीम में एक निरीक्षक सहित ८ जवान रहेंगे। क्यूआरटी की टीम में कहीं-कहीं पर सीएपीएफ के जवान भी रहेंगे। शनिवार दोपहर १२ बजे से सीएपीएफ सभी मतदान केन्द्र व पोलिंग बूथों को अपने अधिकार में ले लेगी। चुनाव के मद्देनजर जहां पर राजनीतिक झड़प हुई है, वहां पुलिस की विशेष निगरानी रहेगी।

कोलकाता उत्तर व दक्षिण लोकसभा क्षेत्र कोलकाता पुलिस के दायरे में पड़ता है। इस अलसवा डायमंड हार्बर, जयनगर और जादवपुर संसदीय क्षेत्र के कुछ हिस्से कोलकाता पुलिस के दायरे में पड़ते हैं। कुल १९ विधानसभा क्षेत्र कोलकाता पुलिस के अंतर्गत हैं।

सीएपीएफ के जवानों ने किया रूट मार्च
सेन्ट्रल फोर्स के जवानों ने कोलकाता उत्तर व दक्षिण संसदीय क्षेत्र के विभिन्न इलाकों में शुक्रवार को रूट मार्च किया। सेन्ट्रल एवेन्यू इलाके में सीएपीएफ के जवानों ने आम लोगों से शांतिपूर्ण तरीके से मतदान करने की अपील की। चुनाव आयोग ने राज्य के ९ सीटों पर ६७६ कंपनी केन्द्रीय बल तैनात किए हैं। जिनमें से १४७ कंपनी कोलकाता पुलिस के इलाके में हैं।

जवानों की तैनाती में पश्चिम बंगाल जम्मू-कश्मीर से आगे

सरकारी सूत्रों के मुताबिक लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण के मतदान के लिए केंद्रीय बलों के जवानों की तैनाती के मामले में पश्चिम बंगाल जम्मू-कश्मीर से आगे निकल गया है। उनकी तैनाती चुनाव आयोग और पश्चिम बंगाल के राज्यपाल की रिपोर्ट में राज्य प्रशासन को सभी उम्मीदवारों को बराबरी का मौका नहीं मिलने को लेकर फटकार लगाए जाने के बाद हुई है।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned