12 दिनों से लापता बैंक मैनेजर का शव मिला

- मुर्शिदाबाद: पति और चालक से पूछताछ कर रही पुलिस

By: Ashutosh Kumar Singh

Published: 25 Nov 2018, 10:24 PM IST

कोलकाता

मुर्शिदाबाद जिले के लालगोला इलाके से लापता बैंक मैनेजर का शव नदिया जिले के नकासीपाड़ा इलाके से मिला है। सेन्ट्रल बैंक ऑफ इंडिया, लालगोला शाखा की मैनेजर मिनाक्षी विश्वास गत 12 नवम्बर को रहस्यमय ढंग से लापता हो गई थी। अगले दिन नकासीपाड़ा से मिनाक्षी का शव मिला था। हालांकि तब शव की पहचान नहीं हो पाई थी। शव मुर्दाघर में पड़ा हुआ था। रविवार को मीनाक्षी के परिजनों ने शव की पहचान की। पुलिस इस संबंध में मिनाक्षी के पति राजू कर्मकार और उसके चालक से थाने में रोक कर पूछताछ कर रही है। पुलिस के अनुसार प्राथमिक पूछताछ में राजू ने बताया है कि 12 नवम्बर को मिनाक्षी घर से बैंक जाने के लिए निकली थी। उसके बाद से उसका कोई पता नहीं था। अगले दिन उसने गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। मिनाक्षी नकासीपाड़ा कैसे पहुंची? इसका पता अभी तक नहीं चल पाया है। विस्तृत जांच जारी है। पहले मिनाक्षी हावड़ा में पदस्थ थी। एक-डेढ़ महीना पहले उसका तबादला लालगोला के उक्त बैंक की शाखा में हुआ था।

----------------------

अयोध्या के अपहृत दो रेशम व्यवसायी मुक्त

- मालदह जिले के होटल में बंधक बना कर रखा था अपहर्ताओं ने
- मांगी थी 10 लाख की फिरौती, तीन अपहर्ता गिरफ्तार

कोलकाता
सऊदी अरब का वीजा बनवाने का झांसा देकर अगवा किए गए उत्तर प्रदेश के अयोध्या के दो रेशम व्यवसायियों को शनिवार रात पश्चिम बंगाल के मालदह जिले से मुक्त कराया गया। इस सिलसिले में तीन अपहर्ताओं को गिरफ्तार किया गया है। पकड़े गए अपहर्ताओं की पहचान सालेख शेख (35), अब्दुल हन्नान (30) एवं चंदू शेख (34) के रूप में हुई है। तीनों कालियाचक इलाके के निवासी बताए जा रहे हैं। पुलिस के अनुसार कुछ दिन पहले आरोपियों ने अयोध्या निवासी रेशम व्यवसायी हामिद खान (45) एवं जुनेद खान (43) को सऊदी अरब जाने के लिए वीजा बनवा देने का झांसा देकर उन्हें मालदह लाया था। यहां दोनों को बंधक बना लिया और उनके परिजनों से १० लाख रुपए की फिरौती मांगी थी। अगवा किए गए व्यवसायियों के परिजनों की ओर से उत्तर प्रदेश पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी। मोबाइल फोन का टॉवर लोकेट कर अयोध्या पुलिस मालदह पहुंची। फिरौती की रकम देने का झांसा देकर पुलिस की टीम ने अपहर्ताओं से मिलने की इच्छा जाहिर की। अपहर्ता पुलिस के झांसे में आ गए। मिलने के लिए नेताजी सुभाष रोड स्थित एक होटल में बुलाया। दोनों व्यवसायियों को उसी होटल में बंधक बना कर रखा था। पुलिस सादी वर्दी में वहां पहुंची और तीन अपहर्ताओं को दबोच लिया। रविवार को पुलिस ने तीनों को अदालत में पेश किया और 5 दिनों की ट्रांजिट रिमांड पर लेकर उत्तर प्रदेश पुलिस रवाना हो गई।

Ashutosh Kumar Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned