West Bengal :कोविड महामारी की दूसरी लहर से मुकाबले में मोदी सरकार विफल

कोलकाता के कालीघाट स्थित अपने आवास से आभासीय शहीद सभा मंच से देश भर को संबोधित करते हुए तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी ने कहा कि केन्द्र की मोदी सरकार कोरोना महामारी की दूसरी लहर का मुकाबला करने में पूरी तरह विफल रही है।

By: Manoj Singh

Published: 22 Jul 2021, 01:06 AM IST

कोविड महामारी की दूसरी लहर से मुकाबले में मोदी सरकार विफल
कहा, चुनाव बाद बंगाल में हिंसा नहीं, मानवाधिकार आयोग ने दिया गलत रिपोर्ट
कोलकाता
कोलकाता के कालीघाट स्थित अपने आवास से आभासीय शहीद सभा मंच से देश भर को संबोधित करते हुए तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी ने कहा कि केन्द्र की मोदी सरकार कोरोना महामारी की दूसरी लहर का मुकाबला करने में पूरी तरह विफल रही है। उत्तर प्रदेश में करोना से अनगिनत लोगों की मौत। गंगा नदी में शव बह रहे थे और पीएम मोदी उत्तर प्रदेश की योगी सरकार को कोरोना से सफलता से मुकाबला करने का सर्टिफिकेट दे रहे हैं। ऐसा कहते शर्म नहीं आता है।
मुख्यमंत्री बनर्जी ने कहा मानवाधिकार आयोग के कुछ सदस्य भाजपा के लोग हैं। बंगाल में हिंसा के बारे में गलत रिपोर्ट दिया गया है। बंगाल में मतदान के बाद कोई हिंसा नहीं हुई। मतदान से ठीक पहले भाजपा उन पर कैसे दबाव बना रही थी वो वही जानीे हैं।
तानाशाही कर रही है भाजपा
ममता बनर्जी ने कहा कि भाजपा पूरी तरह तानाशाही पर आमादा है। उसकी सरकार ने त्रिपुरा में हमारे कार्यक्रम को रोक दिया। क्या यह लोकतंत्र है? वे देश की संस्थाओं को नष्ट कर रहे हैं. अब मोदी सरकार को प्लास्टर करने की जरूरत है।
ममता के आभासीय शहीद सभा में उपस्थित रहे पावार और चिदंबरम

तृणमूल कांग्रेस प्रमुख की शहीद सभा के आभासीय संबोधन को सुनने के लिए दिल्ली के कॉस्टीच्यूशन क्लब में व्यवस्था की गई थी। उसमें राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी प्रमुख शरद पवार, कांग्रेस के दिग्विजय सिंह औऱ चिदम्बरम, सपा से जया बच्चन, रामगोपाल यादव, राजद से मनोज झा, डीएमके, 'आप' अकाली दल आदि दलों के नेता भी मौजूद थे। ममता बनर्जी ने सभी के प्रति आभार प्रकट किया।
ममता के साथ मंच पर अभिषेक, पीते और मुकुल
इस दिन कोलकाता के कालीघाट स्थित आभासीय शहीद सभा के मंच पर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के साथ तृणमूल नेता सुब्रत बक्सी, मुख्यमंत्री के सांसद भतीजे अभिषेक बनर्जी, चुनाव रणनीतिकार प्रशान्त किशोर, मुकुल राय, राज्य के उद्योग मंत्री पार्थ चटर्जी मौजूद रहे। अभिषेक बनर्जी ने धन्यवाद भाषण दिया।
अगले सप्ताह दिल्ली में विपक्षियों की मीटिंग बुलाने का दिया संकेत
अपने भाषण में ममता बनर्जी ने 2024 चुनाव के लिए अभी से भाजपा के विरोध में फ्रंट बनाने की तैयारी शुरू करने साथ इस संदर्भ में अगले सप्ताह दिल्ली में सभी विपक्षी दलों की बैठक होने का संकेत दिया। उन्हें संभवत: 26 जुलाई को दिल्ली जाने खबर है। उनसे पहले तृणमूल के राष्ट्रीय महासचिव अभिषेक बनर्जी दिल्ली जाएंगे।
मन की बात से मोहब्बत नहीं होता
इस दिन अपने शायरा अंदाज में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर प्रहार करते हुए ममता बनर्जी ने कहा कि मोदी जी, रौशनी चांद से होती है सितारों से नहीं। मोहब्बत काम से होती है। मोदी जी मन की बात से नहीं।
अगर लोगों के काम के लिए मन की बात हो तो कोई बात नहीं। लेकिन अगर यह केवल राजनीतिक दलों को ज्ञान प्रदान करने के लिए है, तो ऐसी शिक्षा हमने बहुत ली है। इसकी कोई जरूरत नहीं है। छात्रों को पढ़ने दें, युवाओं को काम करने दें, महिलाओं को सम्मान से जीने दें, दलितों, अल्पसंख्यकों व राजनीतिक दलों के सम्मान वापस दो।
दूसरे राज्यों में सुनवाया गया ममता का भाषण
पश्चिमच बंगाल भर और दिल्ली के अलावा उत्तर प्रदेश, गुजरात महाराष्ट्र और पूर्वोत्तर के राज्यों सहित अन्य राज्यों में ममता बनर्जी का आभासीय भाषण का प्रसारण किया गया। उक्त राज्यों के लोगों ने इस कार्यक्रम में हिस्सा
लिया है।
मोदी जी क्या सिर्फ शाह करते हैं
ममता बनर्जी ने कहा कि वे मोदी जी पर व्यक्ति गत तौर से प्रहार नहीं करती हैं। लेकिन वे बताएं कि क्या सब कुछ खुद केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह करती हैं। मोदी जी को कुछ नहीं पता है।

Show More
Manoj Singh Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned