गंगासागर में 20 लाख से अधिक ने लगाई डुबकी

Prabhat Kumar Gupta

Publish: Jan, 14 2018 07:59:12 PM (IST)

Kolkata, West Bengal, India
गंगासागर में 20 लाख से अधिक ने लगाई डुबकी

मकर संक्रांति के मौके पर रविवार सुबह तक 20 लाख से अधिक श्रद्धालुओं ने गंगा और बंगाल की खाड़ी के संगम स्थल गंगासागर में पुण्य स्नान किया।

जिला प्रशासन का 29 लाख तीर्थयात्रियों के आने का दावा

सागरद्वीप. हिंदुओं की आस्था के महापर्व मकर संक्रांति के मौके पर रविवार सुबह तक 20 लाख से अधिक श्रद्धालुओं ने गंगा और बंगाल की खाड़ी के संगम स्थल गंगासागर में पुण्य स्नान किया। शुभ मुहूर्त में स्नान करने के लिए भारत के विभिन्न हिस्सों से आए श्रद्धालुओं के साथ पड़ोसी देश नेपाल, भूटान और बांग्लादेश के श्रद्धालुओं ने भी मोक्ष प्राप्ति के लिए सागर में डुबकी लगाई। दक्षिण २४ परगना जिला प्रशासन ने रविवार शाम तक 29 लाख श्रद्धालुओं के आने का दावा किया है। मेला में उपिस्थत राज्य के पंचायत व ग्रामीण िवकास मंत्री सुब्रत मुखर्जी ने रिववार को संवाददाता सम्मेलन में कहा िक कल तक यह संख्या 30 लाख तक पहुंच सकती है। गंगासागर के पवित्र जल में स्नान करने के लिए श्रद्धालु रविवार तड़के करीब 3.30 बजे से ही सागर तट पर जुटने लगे।

मंदिर के बाहर असंख्य श्रद्धालुओं का रेला

पुण्य स्नान के बाद कपिल मुनि मंदिर में पूजा अर्चना के लिए मंदिर के बाहर असंख्य श्रद्धालुओं का रेला रहा। कपिलमुनि मंदिर के महंत संजय दास ने सागर में पुण्य स्नान सोमवार दोपहर तक होने की घोषणा की है। सोमवार को भी बड़ी संख्या में श्रद्धालु सागर में डुबकी लगाएंगे। भगवान सूर्य को जल अर्पित करेंगे। भगवान कपिलमुनि के दर्शन करेंगे।


होवरक्राफ्ट, हेलीकॉप्टर और डॉर्नियर से निगरानी

भीड़ को देखते हुए मेला क्षेत्र में सुरक्षा के व्यापक प्रबंध किए गए हैं। सीसीटीवी, होवरक्राफ्ट और डॉर्नियर एयरक्राफ्ट, हेलीकॉप्टर के अलावा जलयान वज्र से निगरानी की जा रही है। जिला कलक्टर वाई रत्नाकर राव ने राजस्थान पत्रिका को बताया कि पिछले साल करीब 15 लाख श्रद्धालु गंगासागर आए थे। इस साल 20 लाख के आंकड़े को पार कर गया है। 7 जनवरी से अब तक करीब ३0 लाख लोग यहां स्नान कर चुके हैं। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के निर्देश पर प्रशासन ने उनके लिए सारी व्यवस्थाएं की है।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned