महानगर में शक्ति-पराक्रम के देवता नृसिंह जयंती की धूम

महानगर में शक्ति-पराक्रम के देवता नृसिंह जयंती की धूम

Shishir Sharan Rahi | Publish: May, 17 2019 09:43:00 PM (IST) | Updated: May, 17 2019 09:43:01 PM (IST) Kolkata, Kolkata, West Bengal, India

राजाकटरा, नींबूतल्ला, लिलुआ सहित 10 स्थानों में धूमधाम से मनी जयंती---सजीव नाटिका और विविध आयोजन

कोलकाता. शक्ति तथा पराक्रम के देवता नृसिंह की जयंती शुक्रवार को कोलकाता, हावड़ा, लिलुआ सहित प्रदेश में धूमधाम से मनाई गई। कोलकाता के बड़ाबाजार, राजाकटरा, नींबूतल्ला, मालापाड़ा, ढाकापट्टी और तारासुंदरी सहित १० स्थानों में मनाई गई। नरसिंह जयंती के प्राकट्योत्सव की महानगर समेत उपनगरों में धूम रही। धूमधाम से प्राकट्योत्सव अखाड़ा गली (सिकदरपाड़ा सेकंड लेन) में मनाया गया। सजीव नाटिका के रूप में भगवान विष्णु के दशावतारों के चतुर्थ अवतार नरसिंह के अवतार का रूप धारण कैलाश हर्ष और हिरण्यकश्यप का मुकेश आचार्य ने धरा। मुख्य संचालक राजकुमार व्यास ने बताया कि सनातन प्रेमियों से खचाखच भरे इस महोत्सव को सफल बनाने मे वरदमूर्ति व्यास, महेश आचार्य, बुलाकी हर्ष, जगदीश हर्ष, प्रकाश गुप्ता, गोपी किराडू,लाला किराडू, पंकज थानवी, राहुल थानवी आदि ने मुख्य सहयोग दिया। इसी तरह नींबूतल्ला में महेंद्र पुरोहित के सान्निध्य में आयोजन हुए। इसमें अशोक द्वारकानी, चांदरतन लाखोटिया, विष्णु शर्मा, पार्षद मीनादेवी पुरोहित और विजय ओझा आदि मौजूद थे। राजाकटरा के नरसिंह मंदिर में हुए कार्यक्रम में रवि पुरोहित, मनोज आचार्य ने सक्रिय भूमिका निभाई। नृसिंह जयंती वैशाख महीने की शुक्ल पक्ष की चतुर्दशी को मनाई जाती है। हिंदू धर्म में इस जयंती का बहुत बड़ा महत्व है. .पौराणिक धार्मिक मान्यताओं एवं धार्मिक ग्रंथों के अनुसार भगवान विष्णु ने इस दिन अपने भक्त प्रहलाद को बचाने के लिए दैत्यों के राजा हिरण्यकश्यप का वध करने के लिए आधे नर और आधे सिंह के रूप में नृसिंह अवतार लिया था।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned