बंगाल में भारत बंद का असर नहीं, जन जीवन सामान्य

बंगाल में भारत बंद का असर नहीं, जन जीवन सामान्य

Ashutosh Kumar Singh | Publish: Sep, 10 2018 10:32:38 PM (IST) Kolkata, West Bengal, India

- बंगाल में भारत बंद का असर नहीं, जन जीवन सामान्य

- दुकान बाजार खुले, परिवहन व्यवस्था भी रही सामान्य

 

कोलकाता
पेट्रोल और डीजल की कीमतों में वृद्धि के खिलाफ कांग्रेस और वामदलों की ओर से आहूत राष्ट्रव्यापी बंद का पश्चिम बंगाल में कोई खास असर देखने को नहीं मिला। दुकान-बाजार खुले रहे। परिवहन व्यवस्था भी सामान्य रही। हालांकि कोलकाता की सडक़ों पर आम दिनों की तुलना में कम बसें दिखीं। लोगों की संख्या भी कम थी। राज्य सचिवालय समेत समस्त सरकारी कार्यालयों में कर्मचारियों की उपस्थिति सामान्य रही। सुबह में कांग्रेस और वामदलों के कार्यकर्ता बंद को सफल बनाने के लिए सडक़ पर उतरे। कहीं सडक़ व कहीं ट्रेन अवरोध किए। इस वजह से कुछ देर तक के लिए परिवहन व्यवस्था प्रभावित हुई, लेकिन पुलिस हस्तक्षेप के बाद तुरंत सामान्य हो गई। छिटपुट झड़प को छोड़ कर बंद के दौरान राज्य में कहीं से किसी प्रकार की अप्रिय घटना की खबर नहीं है। कोलकाता के मौलाली, मानिकतल्ला एवं धर्मतल्ला में कांग्रेस समर्थकों ने सडक़ अवरोध किया। बड़ाबाजार, कॉलेज स्र्टीट समेत कुछ इलाकों में कुछ दुकानें बंद दिखीं। जबरन बंद को सफल बनाने की कोशिश के आरोप में पुलिस ने कांग्रेस के कुछ कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया। शाम में सभी को छोड़ दिया गया। उत्तर 24 परगना जिले के ईच्छापुर, दक्षिण २४ परगना के बारुईपुर, मुर्शिदाबाद के बहरमपुर, बर्दवान के काटवा, कालना आदि जगहों में बंद समर्थकों और सत्तारूढ़ दल के समर्थकों में हल्की झड़प की खबर है। पूर्व रेलवे के सियालदाह और हावड़ा सेक्शन में ट्रेन सेवा कुछ देर के लिए बाधित हुई। बंद समर्थकों ने दमदम कैन्ट, जादवपुर, बारुईपुर और श्रीरामपुर स्टेशनों पर रेल परिचालन को अवरुद्ध कर दिया था। हावड़ा-बर्दवान सेक्शन में भी कुछ जगहों पर ट्रेन अवरोध किया गया। उन्हें आधे घंटे के भीतर पुलिस ने हटा दिया। उल्लेखनीय है कि सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस ने पहले हड़ताल का विरोध किया था। राज्य सरकार की ओर से बंद से जनजीवन को प्रभावित होने से बचाने के लिए हरसंभव कोशिश करने की घोषणा की गई थी।

Ad Block is Banned