राष्ट्रव्यापी बेमियादी ट्रक हड़ताल शुरू

बंगाल में 3 लाख और पूरे देश में 90 लाख ट्रकों के पहिए थम गए हैं

By: Ashutosh Kumar Singh

Published: 20 Jul 2018, 03:59 PM IST

 

कोलकाता

डीजल के दाम में बढ़ोतरी के खिलाफ ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस का आहूत राष्ट्रव्यापी बेमियादी ट्रक हड़ताल शुक्रवार से शुरू हो गया। पश्चिम बंगाल में 3 लाख एवं पूरे देश में 90 लाख ट्रकों के पहिए थम गए हैं। सभी मालिक ट्रक खड़े कर दिए हैं। ट्रक हड़ताल से रोजमर्रा के सामानों की बढ़ेगी कीमतट्रक हड़ताल से जन-जीवन बुरी तरह से प्रभावित होगा। फल-सब्जी समेत रोजमर्रा के सामानों की कीमतें बढ़ जाएंगी। 7 जुलाई को कोलकाता में बैठक के बाद संगठन की ओर से हड़ताल की घोषणा की गई थी। ट्रांस्पोटरों का कहना है कि सरकार लगातार डीजल की कीमतों में इजाफा कर रही है, जिसका खामियाजा ट्रांसपोर्टरों को भुगतना पड़ रहा है। सरकार उनके रोजगार के बारे में नहीं सोच रही है। डीजल एवं थर्ड पार्टी बीमा के प्रिमियम में लागातार वृद्धि एवं जगह-जगह पर टोल टैक्स वसूली के कारण उनका व्यापार करना भी मुश्किल होता जा रहा है। उन्होंने कई बार सरकार के समक्ष अपनी समस्याओं को रखा, लेकिन कोई ध्यान नहीं दिया गया। वाध्य होकर उन्होंने बेमियादी हड़ताल पर जाने का निर्णय किया है। इससे पहले ट्रक मालिक संगठन की ओर हड़ताल की घोषाणा की गई थी। लेकिन हड़ताल हुई नहीं थी। सरकार उनकी मांगों पर ध्यान देगी। यह सोंच कर मालिकों ने हड़ताल वापस ले ली थी। फिर हड़ताल के लिए अल्टीमेटम भी दिया गया था, लेकिन सरकार की ओर से कुछ नहीं कहा गया। फिर दुबारा हड़ताल की घोषणा की गई।

----

ट्रांसपोर्ट्स की मांगें

1. पेट्रोल और डीजल की कीमतों में हर रोज नहीं बल्कि 3 महीने में संशोधन हो

2. ट्रांसपोर्टर के लिए टोल बेरियर मुक्त हो

3.थर्ड पार्टी बीमा की प्रिमियम में जीएसटी में छूट दी जाए

4.ट्रांसपोर्ट व्यापार पैट टीडीएस खत्म किया जाए

5. बसों और पर्यटन वाहनों को नेशनल परमिट के लिए देश में एक नीति हो

6. डायरेक्ट पोर्ट डिलेवरी (डीपीडी) टेंडरिंग सिष्टम बंद किया जाए आदि

Show More
Ashutosh Kumar Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned