आजादी के बाद ऐसी हिंसा कभी नहीं देखी: राज्यपाल

राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने 48 घंटों के अंतराल में शनिवार सुबह दिल्ली में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से दूसरी बार मुलाकात करने के बाद पत्रकारों से बातचीत में कहा कि बंगाल में विधानसभा चुनाव के बाद से जिस तरह की हिंसा हो रही है, वैसी आजादी के बाद कभी नहीं देखी गई।

By: Rabindra Rai

Published: 20 Jun 2021, 12:00 AM IST

48 घंटे के अंदर केंद्रीय गृह मंत्री शाह से दूसरी बार मिले धनखड़
ममता सरकार पर फिर साधा निशाना
कोलकाता. पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने प्रदेश में चुनाव बाद हो रही हिंसा को लेकर ममता बनर्जी की सरकार पर शनिवार को फिर जोरदार निशाना साधा। 48 घंटों के अंतराल में शनिवार सुबह दिल्ली में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से दूसरी बार मुलाकात करने के बाद पत्रकारों से बातचीत में धनखड़ ने कहा कि बंगाल में विधानसभा चुनाव के बाद से जिस तरह की हिंसा हो रही है, वैसी आजादी के बाद कभी नहीं देखी गई। हमें लोकतंत्र, संविधान और कानून व्यवस्था पर विश्वास करना चाहिए। मैं नौकरशाहों और पुलिस से भी नियमों के दायरे में रहने की अपील करता हूं।
सूत्रों के अनुसार दोनों के बीच बंगाल में कानून व्यवस्था की स्थिति पर चर्चा हुई है। राज्यपाल मंगलवार शाम दिल्ली गए थे। उनका शुक्रवार दोपहर दिल्ली से कोलकाता लौटने का पूर्व निर्धारित कार्यक्रम था, लेकिन अमित शाह से मुलाकात के कारण इसे एक दिन बढ़ा दिया था।
--
चर्चाओं का बाजार गर्म
राज्यपाल के दिल्ली आकर 48 घंटों के अंतराल में दो-दो बार केंद्रीय गृहमंत्री से मुलाकात को बेहद महत्वपूर्ण माना जा रहा है। राजनीतिक गलियारों में इसको लेकर चर्चाओं का बाजार गर्म है।
जगदीप धनखड़ के पदभार संभालने के बाद यह पहला मौका है जब उन्होंने प्रदेश से संबंधित मुद्दों पर दिल्ली में इतना लम्बा समय व्यतित किया।
--
इनके साथ की गंभीर चर्चा
इससे पहले राज्यपाल ने इस बार राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद , लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला, मानवाधिकार आयोग के चेयरमैन अरुण कुमार मिश्रा, भारत के नियंत्रक और महालेखा परीक्षक गिरीश चंद्र मुर्मू, केंद्रीय कोयला, खनन और संसदीय मामलों के मंत्री प्रहलाद जोशी, केंद्रीय संस्कृति एवं पर्यटन मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अधीर रंजन चौधरी से मुलाकात की थी। राज्यपाल ने सभी के साथ राज्य के विभिन्न मुद्दों पर गंभीर रूप से चर्चा की है।

Rabindra Rai Editorial Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned