बंगाल के सरकारी कर्मचारियों को नववर्ष का तोहफा

- जनवरी महीने से मिलेगा 125 प्रतिशत महंगाई भत्ता
- बीरभूम के इलबाजार की जनसभा में सीएम ममता का ऐलान

By: Ashutosh Kumar Singh

Published: 03 Jan 2019, 10:58 PM IST

कोलकाता

पश्चिम बंगाल के सरकारी कर्मचारियों के लिए अच्छी खबर है। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने चालू महीने से बकाया महंगाई भत्ते का भुगतान करने की घोषणा की। अब सरकारी कर्मचारियों को मूल वेतन का 125 प्रतिशत महंगाई भत्ता मिलेगा। गुरुवार को बीरभूम जिले के इलमबाजार में जनसभा को संबोधित करते हुए ममता बनर्जी ने कहा कि चालू वर्ष के जनवरी महीने से कर्मचारियों के बकाया महंगाई भत्ता का भुगतान किया जाएगा। आर्थिक अभाव के बावजूद सरकार कर्मचारियों के बकाया महंगाई भत्ता का भुगतान करेगी। हालांकि १२५ प्रतिशत महंगाई भत्ता मिलने के बावजूद राज्य के सरकारी कर्मचारियों का महंगाई भत्ता केन्द्र सरकार के कर्मचारियों से 23 प्रतिशत कम रहेगा। वाममोर्चा सरकार पर निशाना साधते हुए ममता ने कहा कि 34 साल के शासन में उसने कर्मचारियों के बकाया का भुगतान नहीं किया। सत्ता से हटने के बाद कुछ पार्टी नेता बकाया महंगाई भत्ते की मांग कर रहे हैं। केन्द्र सरकार पर उन्होंने राज्य को पर्याप्त आर्थिक मदद नहीं देने का भी आरोप लगाया। इधर वेस्ट बंगाल स्टेट को-ऑर्डिनेशन कमेटी के एक नेता ने कहा कि यह कोई नई घोषणा नहीं है। जून 2019 में मुख्यमंत्री ने जनवरी 2019 से 125 प्रतिशत महंगाई भत्ता देने की घोषणा की थी। मुख्यमंत्री ने जनवरी 2019 से महंगाई भत्ते में 18 प्रतिशत की वृद्धि एवं 10 अंतरिम राहत देने की घोषणा की थी। राजनीति के जानकार ममता बनर्जी की इस घोषणा को आगामी लोकसभा चुनाव की तैयारी से जोड़ कर देख रहे हैं। इससे पहले ममता सरकार ने किसान परिवार में किसी की मौत पर दो लाख रुपए मुआवजा देने का ऐलान किया था।

-------

लोकतंत्र का पाठ नहीं पढ़ाएं मोदी-ममता

माॉब लिंचिंग और कृषकों के आत्महत्या का जिक्र करते हुए ममता बनर्जी गुरुवार को केन्द्र सरकार पर जमकर बरसी। उन्होंने कहा कि गोरक्षा के नाम पर देश में लोगों की पीट-पीट कर हत्या की जा रही है। एक साल में १२ हजार किसानों ने आत्महत्या की है। लोगों की व्यक्तिगत आजादी पर पाबंदी लगाई जा रही है। ऐसे में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी हमें लोकतंत्र का पाठ नहीं पढ़ाएं। मोदी ने हाल ही में साक्षात्कार में कहा था कि बंगाल में लोकतंत्र नहीं है। ममता बनर्जी ने कहा कि पश्चिम बंगाल में शांति है। हमें किसी उपदेश की जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि भाजपा के पास कोई काम नहीं है, मुझे राम की परिभाषा बता रही है। ममता ने कटाक्ष करते हुए कहा कि हमलोग धर्म को नहीं बेचते। भाजपा को जन्म लिए 30 साल हुए पर तीस हजार साल के हिन्दुत्व की बात कर रही है। हमलोग सबकी पूजा करते हैं। रावण का वध करने के लिए ही भगवान रामचंद्र ने मां दुर्गा की पूजा की थी। हम धर्म को हृदय से प्यार करते हैं। धर्म को बेचते नहीं हैं। सिर पर पगड़ी बांध और कंधे पर डंडा या बंदूक लेकर हम धर्म बेचकर नहीं खाते। ममता ने कहा कि सबको साथ लेकर चलना होगा। जबतक सबको साथ लेकर चलेंगे तब तक बंगाल में शांति रहेगी।

Ashutosh Kumar Singh Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned