अब नंबर काटने पर शिक्षकों को बताना होगा कारण


-पश्चिम बंगाल माध्यमिक शिक्षा पर्षद ने जारी किए नए निर्देश

By: Renu Singh

Published: 07 Mar 2020, 04:42 PM IST

कोलकाता

अब माध्यमिक परीक्षा में उत्तर पुस्तिकाएं जांच करते समय नंबर काटने वाले को कारण बताना पड़ेगा। माध्यमिक परीक्षा बोर्ड की ओर से नए निर्देश जारी किए गए हैं। उत्तर पुस्तिकाओं की जांच अभी शुरू नहीं की गई है। मालूम हो कि कुछ दिन पहले माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने परीक्षकों के लिए नए दिशानिर्देश जारी किए थे। अब से परीक्षक को नंबर काटने का कारण लिखना होगा। इस वर्ष माध्यमिक की परीक्षा गत 18 फरवरी से शुरू हुई व 27 फरवरी को समाप्त हुई। बोर्ड परीक्षा के दौरान पहले ही दिन प्रश्नपत्र व्हाट्सएप पर वायरल हो गया था, परिणामो में ऐेसा कुछ न हो इसके लिए बोर्ड ने यह तैयारी की है। बोर्ड अध्यक्ष कल्याण गंगोपाध्याय ने कहा कि कॉपी में नंबर काटने के बाद विशेष रूप से उल्लेख किया जाना चाहिए कि नंबरों में कटौती क्यों की जा रही है। अगर एक शिक्षक 5 नंबर के एक प्रश्न के उत्तर में 3 नंबर देता है तो परीक्षक को यह लिखना होगा कि 2 नंबर क्यों काटे गए। नए नियम इस साल से ही लागू होंगे। इस पद्धति को लागू करने से कॉपियां देखने में त्रुटि की संभावना कम हो जाएगी। इससे परीक्षक उत्तर पुस्तिकाओं के मूल्यांकन पर अधिक ध्यान केंद्रित करेंगे। मालूम हो कि पिछली बार ऐसी घटना घटी थी कि कॉपियों की रिव्यू में अंक बढ़ेे थे। उनमें एक छात्र ऐसा भी था, जो टॉप 10 की सूची में था।

Renu Singh Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned