बंगाल में लाएंगे एनआरसी, खदेड़ेंगे घुसपैठियों को-शाह

कहा, लोकसभा चुनाव देगा बंगाल में परिवर्तन का संदेश, तृणमूल को उखाड़ फेंकने का किया आह्वान

तृणमूल बोली, बंगाल में कभी एनआरसी लागू नहीं होने देंगे

 

By: Manoj Singh

Published: 29 Mar 2019, 08:18 PM IST

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने असम की तरह बंगाल में भी राष्ट्रीय नागरिकता पंजीकरण (एनआरसी) लागू कर घुसपैठियों को देश से भगाने और हिन्दू शरणार्थियों को सम्मान पूर्वक नागरिकता देने की घोषणा की। उन्होंने ममता सरकार पर बंगाल में लोकतंत्र का गला घोंटने का आरोप लगाया, लोकसभा चुनाव को देश की दिशा तय करने और बंगाल का अस्तित्व बचाने वाला करार दिया तथा राज्य की 42 लोकसभा सीटों में से 23 पर कमल खिलने का दावा किया।

अलीपुरदुआर
भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने असम की तरह बंगाल में भी राष्ट्रीय नागरिकता पंजीकरण (एनआरसी) लागू कर घुसपैठियों को देश से भगाने और हिन्दू शरणार्थियों को सम्मान पूर्वक नागरिकता देने की घोषणा की। उन्होंने ममता सरकार पर बंगाल में लोकतंत्र का गला घोंटने का आरोप लगाया, लोकसभा चुनाव को देश की दिशा तय करने और बंगाल का अस्तित्व बचाने वाला करार दिया तथा राज्य की 42 लोकसभा सीटों में से 23 पर कमल खिलने का दावा किया। दूसरी तरफ तृणमूल कांग्रेस ने कहा कि बंगाल में कभी एनआरसी लागू नहीं होगी। तृणमूल महासचिव पार्थ चटर्जी ने कहा कि हम लोग बंगाल में इसे लागू करने की अनुमति कभी नहीं देंगे। भाजपा लोगों को धार्मिक और सांप्रदायिक आधार पर बांटना चाहती है। हम ऐसा कभी नहीं होने देंगे।

उत्तर बंगाल के अलीपुरदुआर स्थित परेड मैदान में शुक्रवार को चुनावी रैली को संबोधित करते हुए शाह ने कहा कि केन्द्र में दोबारा नरेन्द्र मोदी की सरकार बनेगी। असम की तरह बंगाल में भी एनआरसी लागू कर यहां से घुसपैठियों को भगाया जाएगा। ममता बनर्जी भ्रम फैला रही हैं कि भाजपा शरणार्थियों को भगाएगी। हम आश्वस्त करते हैं कि हिन्दू शरणार्थी भारत के अभिन्न अंग हैं। उन्हें सम्मानपूर्वक देश में रहने का अधिकार दिया जाएगा। इसके लिए उनकी सरकार नागरिकता संशोधन बिल पास करवाएगी। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि इन दिनों ममता बनर्जी बहुत गुस्से में हैं। उन्होंने पूछा कि ममता दीदी क्यों गुस्से में है तो पत्रकारों ने बताया कि पाकिस्तान के बालाकोट में एयर स्ट्राइक के बाद ममता दीदी गुस्से में हैं। विपक्षी दलों के लिए देश, देश की सुरक्षा तथा आतंकवाद का मु²ा महत्वपूर्ण नहीं है, बल्कि घुसपैठिए हैं। ममता बनर्जी वोट बैंक के लिए घुसपैठियों का समर्थन करती हैं।
शाह ने कहा कि यह देश की दिशा तय करने के साथ अस्तित्व बचाने का चुनाव है। ममता सरकार ने बंगाल की संस्कृति और सभ्यता को नष्ट कर दिया है। अब इस सरकार की मियाद समाप्त हो गई है। उन्होंने कहा कि बंगाल में भाजपा के 80 कार्यकर्ताओं की हत्या की गई। ममता दी सुन लें जितने गुंडे उतारने हैं उतार लो। इस बार जनता मोदी को ही जीत दिलाएगी। यह चुनाव तृणमूल को जड़ से उखाड़ फेंकने का मौका है। शाह ने कहा कि लोकसभा चुनाव की लड़ाई दो खेमे के बीच है। एक तरफ मोदी हैं और दूसरी तरह कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, ममता दीदी, समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव और बहुजन समाज पार्टी प्रमुख मायावती हैं। शाह ने सीएम ममता बनर्जी पर आरोप लगाते हुए कहा कि मोदी ने देश में गरीबों के लिए शौचालय और घर बनवाए, बिजली दी, स्वास्थ्य सेवाएं दी। मोदी सरकार ने पिछले पांच साल में बंगाल को 4 लाख 24 हजार 900 करोड़ रुपए दिए हैं। ममता दीदी ने गरीबों के लिए क्या किया, इसका हिसाब वह जनता को दें।

Manoj Singh Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned