मृत पति के शव के साथ चार दिनों तक घर में पड़ी रही वृद्धा

महानगर में फिर रॉबिन्सन स्ट्रीट कांड की छाया देखने को मिली। हसीरानी सान्याल नामक एक वृद्धा अपने पति के शव के साथ चार दिनों तक घर में पड़ी रही

By: शंकर शर्मा

Published: 15 Jan 2018, 10:37 PM IST

कोलकाता. महानगर में फिर रॉबिन्सन स्ट्रीट कांड की छाया देखने को मिली। हसीरानी सान्याल नामक एक वृद्धा अपने पति के शव के साथ चार दिनों तक घर में पड़ी रही। घटना कोलकाता के हरिदेवपुर थानान्तर्गत बसूश्री बागान इलाके की है। मृतक का नाम अमरनाथ सान्याल (८२) है। सूत्रों के मुताबिक उस्ताद आमिर खान सरणी इलाके में अमरनाथ रहते थे। वे केपीटी में कार्यरत थे।


पिछले कुछ दिनों से इलाके के लोग अमरनाथ को नहीं देख पा रहे थे। उनकी पत्नी को भी नहीं देखा गया। इसके बाद लोगों को कुछ संदेह हुआ। घर में आवाज लगाने पर भी कोई जवाब नहीं मिला। इस पर लोगों का संदेह और बढ़ गया।


निकली दुर्गंध

घर से दुर्गन्ध निकलने पर लोगों ने तुरंत पुलिस को खबर दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने दरवाजा तोडक़र अंदर प्रवेश किया तो देखा कि बिस्तार पर अमरनाथ का शव पड़ा है और वहीं उनकी पत्नी बैठी है।


पड़ोसियों का कहना है कि पति के पास ही बिस्तर पर उनकी पत्नी बैठी थी। प्राथमिक जांच के आधार पर पुलिस का अनुमान है कि तीन-चार दिन पहले अमरनाथ की मौत हुई है। उनके रिश्तेदार का कहना है कि अमरनाथ की पत्नी मानसिक तौर पर बीमार है।


पुलिस का कहना है कि शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। मामले की जांच की जा रही है। फिलहाल पता नहीं चल पाया है कि अमरनाथ की मौत कैसे हुई?

बाजे कमदतल्ला घाट से मिला युवक का शव
पोर्ट डिवीजन के नार्थ पोर्ट थानान्तर्गत बाजे कदमतल्ला घाट से रविवार की शाम को एक युवक का शव बरामद किया गया। गंगा में शव को तैरते देख लोगों ने तुरंत पुलिस को खबर दी। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। मृतक की पहचान नहीं हो पाई है।


पुलिस के मुताबिक उसकी उम्र लगभग ३० साल है। बरानगर की ओर से युवक का शव तैरता हुआ आ रहा था। बाजे कदमतल्ला घाट के पास शव को बाहर निकाला गया। पुलिस शव की पहचान करने में जुटी है। मौत की वजह जानने की कोशिश की जा रही है।

शंकर शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned