कोलकाता में डायरिया से हुई एक की मौत

Krishna Das Parth

Publish: Feb, 15 2018 12:32:35 AM (IST)

Kolkata, West Bengal, India
कोलकाता में डायरिया से हुई एक की मौत

एक शादी समारोह में विश्वजीत आए थे बाघाजतीन

एक शादी समारोह में बाघाजतीन गए विश्वजीत दास(40) क ी मौत बुधवार को डायरिया के कारण हो गई। मंगलवार सुबह से विश्वजीत की तबीयत खराब थी। मंगलवार शाम विश्वजीत को बाघाजतीन अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। अस्पताल में उन्हें इंजेक्शन लगाकर छोड़ दिया गया। तबीयत बिगडऩे पर फिर उन्हें अस्पताल ले जाया गया, डॉक्टरों ने उन्हें एम.आर. बांगुर अस्पताल में भर्ती करने का सुझाव दिया। इस बीच विश्वजीत दास ने कहा कि उनकी तबीयत ठीक लग रही है। घर जाते ही तबीयत बिगड़ गई। परिजन उन्हें निजी अस्पताल ले गए, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। परिजनों का आरोप है कि अगर बाघाजतिन स्टेट जनरल अस्पताल में उन्हें भर्ती कर लिया गया होता तो शायद उनकी मौत नहीं होती। स्थानीय सूत्रों ने बताया कि विश्वजीत घोष उत्तर २४ परगना का रहने वाले थे। वे एक शादी समारोह में बाघाजतीन आए हुए थे।

102 नं वार्ड में 50 लोग बीमार

दक्षिण कोलकाता के 102 नं वार्ड में लगभग 50 लोग डायरिया से बीमार पड़े हैं। स्थानीय लोगों का कहना है कि किसी एक परिवार क ो नहीं बल्कि हर घर में 1-2 लोग बीमार पड़े हैं। डायरिया को लेकर लोगों में दहशत फैल गई है। वहीं स्थानीय पार्षद रिंकू नस्कर ने कहा कि वार्ड में पीडि़तों की संख्या तो बढ़ रही है। बुधवार शाम विश्वजीत दास की मौत डायरिया के कारण हुई है। पार्षद ने मृतक के परिजनों से मुलाकात की।

डायरिया के खिलाफ कांग्रेस का निगम के सामने प्रदर्शन


दक्षिण कोलकाता में बढ़ रहे डायरिया के प्रकोप के विरोध में बुधवार को कोलकाता नगर निगम के गेट के बाहर क ांग्रेस के समर्थकों ने प्रदर्शन किया। दक्षिण कोलकाता जिला क ांग्रेस कमेटी की ओर से यह प्रदर्शन किया गया। कांग्रेस के समर्थकों ने डायरिया को लेकर मेयर शोभन चटर्जी से इस्तीफे की मांग की। कांग्रेस समर्थकों का आरोप है कि निगम के जल वितरण से ही डायरिया फैल रहा है। दिन-रात लोगों की परेशानी बढ़ रही है। लेकिन मेयर चटर्जी का कहना है कि पानी में कोई खराबी नहीं है। निगम की ओर से साफ जल ही वितरित हो रहा है। यह कह कर मेयर अपनी जिम्मेदारियों से पल्ला झाड़ रहे हैं। मेयर को इस्तीफा देना होगा।

और 97 लोग हुए प्रभावित

दक्षिण कोलकाता में डायरिया का प्रकोप बढ़ता ही जा रहा है। मंगलवार से बुधवार सुबह तक ९७ लोग पेट दर्द व कय से पीडि़त पाए गए। बाघाजतीन स्टेट जनरल अस्पताल में बुधवार को २७ लोगों को चिकित्सा के लिए भर्ती किया गया। इसके साथ ही बेलियाघाटा आईडी व एमआर बांगुर अस्पताल में भी कुछ पीडि़तों को भर्ती किया गया है।

स्वयंसेवी संस्थाएं भी कर रही काम

दक्षिण कोलकाता के डायरिया प्रभावित इलाकों में कई स्वयंसेवी संस्थाएं भी काम कर रही हैं। कई स्वयंसेवी संस्थाओं ने इलाके में शिविर लगाकर नि:शुल्क ओआरएस व दवाइयों का वितरण किया। स्थानीय लोगों का कहना है कि डायरिया पीडि़तों की संख्या जिस तरह बढ़ रही है, उसी तरह दवाओं व इलाज की व्यवस्था से प्रभावित ठीक भी हो रहे हैं।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned