केंद्र के खिलाफ 10 को कोलकाता की सडक़ों पर उतरेंगी पार्टियां

केंद्र के खिलाफ 10 को कोलकाता की सडक़ों पर उतरेंगी पार्टियां

Prabhat Kumar Gupta | Publish: Sep, 07 2018 09:19:33 PM (IST) Kolkata, West Bengal, India

पेट्रोलियम पदार्थों के मूल्यों में बेतहाशा वृद्धि, किसानों के कर्ज माफ करने, रफाल समझौते में बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार को लेकर कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस और वाम दलों ने केंद्र के खिलाफ जोरदार आंदोलन का रास्ता अपनाया है।

 

- कोलकाता में तृणमूल निकालेगी विरोध जुलूस
- कांग्रेस ने बंद और वामो ने किया हड़ताल का आह्वान

कोलकाता.

पेट्रोलियम पदार्थों के मूल्यों में बेतहाशा वृद्धि, किसानों के कर्ज माफ करने, रफाल समझौते में बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार जैसे मामलों सहित कई अन्य मांगों को लेकर कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस और वाम दलों ने केंद्र के खिलाफ जोरदार आंदोलन का रास्ता अपनाया है। कांग्रेस और वाम दलों ने 10 सितम्बर को जहां 12 घंटे की हड़ताल(बंद) का आह्वान किया है, वहीं पश्चिम बंगाल की सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस ने उक्त मुद्दों का समर्थन करते हुए हड़ताल का विरोध किया है। पार्टी ने कोलकाता सहित राज्य स्तर पर विरोध जुलूस निकालने की घोषणा की है। तृणमूल कांग्रेस महासचिव डॉ. पार्थ चटर्जी और माकपा राज्य सचिव डॉ. सूर्यकांत मिश्र ने अलग अलग प्रेस कांफ्रेंस कर केंद्र सरकार पर निशाना साधा है। इधर, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सांसद अधीर रंजन चौधरी ने समस्त जिला कमेटियों को प्रस्तावित १२ घंटे की हड़ताल के लिए प्रचार अभियान तेज करने का निर्देश दिया है। प्रदेश कार्यालय से जारी निर्देशों के अनुसार पेट्रोलियम पदार्थों के मूल्य वृद्धि और रफाल घोटाले के खिलाफ जोरशोर से प्रचार चलाया जा रहा है।
हड़ताल का समर्थन नहीं- पार्थ

तृममूल कांग्रेस महासचिव तथा राज्य के शिक्षा मंत्री डॉ. चटर्जी ने शुक्रवार को पार्टी मुख्यालय तृणमूल भवन में संवाददाता सम्मेलन कर कहा कि पेट्रोलियम पदार्थों के दाम आसमान छू रहे हैं, अमरीकी डॉलर के मुकाबले रुपया लगातार कमजोर होता जा रहा है। मोदी सरकार की गलत नीतियों के चलते देश की अर्थ व्यवस्था चौपट होती जा रही है। तृणमूल कांग्रेस इसके खिलाफ लोगों को एकजुट कर केंद्र के खिलाफ आंदोलन जारी रखेगी। 10 सितम्बर को कांग्रेस और वाम दलों का प्रस्तावित भारत बंद और हड़ताल के संदर्भ में पार्थ ने कहा कि उनकी पार्टी उक्त मुद्दों का समर्थन करती है पर किसी भी बंद या हड़ताल का समर्थन नहीं करेगी। तृणमूल कांग्रेस कोलकाता के मौलाअली क्रासिंग से धर्मतल्ला के डोरिना क्रासिंग तक विरोध जुलूस निकालेगी। पार्टी केंद्र के खिलाफ राज्य के लोगों संगठित कर आंदोलन करेगी। राज्य सरकार आंदोलन के नाम पर जनजीवन को मुश्किल में डालने की अनुमति नहीं देगी।
हड़ताल में शामिल होंगे आमलोग-सूर्यकांत

माकपा राज्य सचिव सूर्यकांत मिश्र ने कहा कि केंद्र और राज्य की तृणमूल कांग्रेस सरकार के खिलाफ वाम दलों ने पश्चिम बंगाल में लोगों से 12 घंटे की हड़ताल में शामिल होने का आह्वान किया है। केंद्र सरकार के कॉरपोरेट हितैषी कदमों के विरोध में माकपा समेत अन्य वामदलों का आंदोलन जारी है। देश में किसान जहां कर्ज माफ की मांग कर रहा है वहां केंद्र सरकार बड़े कॉरपोरेट घरानों का कर्ज माफ कर रही है। ऐसे घरानों पर करीब ४ लाख करोड़ का बकाया है। दूसरी ओर, भाकपा (माले) लिबरेशन की राज्य शाखा ने भी हड़ताल का समर्थन किया है। राज्य शाखा के नेता पार्थ घोष ने विज्ञप्ति जारी कर कहा कि उक्त मुद्दों के विरोध में पार्टी कार्यकर्ता 9 सितम्बर को कोलकाता में मशाल जुलूस निकालेंगे।

Ad Block is Banned