आ गया अक्टूबर प्लान कर लें दार्जिलिंग का टूर

पहाड़ों के घुमावदार हरे भरे रास्तों से गुजरते समय पर्यटक सुहानी यादें भी साथ ले जाते हैं। बर्फ से ढंकी रहने वाली कंचनजघा की पर्वत चोटी का दृश्य लोगों को सम्मोहित कर देता है।

Paritosh Dubey

September, 1307:03 PM

Kolkata, West Bengal, India

 

पहाड़ों की रानी, चाय के बागानों से घिरा हिल स्टेशन दार्जिलिंग अक्ट़ूबर में पर्यटकों को आमंत्रित कर रहा है। समुद्र तल से 2 हजार 200 मीटर की ऊंचाई पर स्थित इस टूरिस्ट स्पॉट को पर्यटक काफी पसंद करते हैं। यहां देश विदेश से हजारों की संख्या में पर्यटक साल भर आते जाते हैं। पहाड़ों के घुमावदार हरे भरे रास्तों से गुजरते समय पर्यटक सुहानी यादें भी साथ ले जाते हैं। बर्फ से ढंकी रहने वाली कंचनजघा की पर्वत चोटी का दृश्य लोगों को सम्मोहित कर देता है। ट्वाय ट्रेन का रोमांच, बौद्ध मठों में गूंजते घंटों की ध्वनि से उत्पन्न आध्यात्मिकता पर्यटकों को पसंद आती है। अब जब अक्टूबर आने में देर नहीं है तो आप भी कर सकते हैं दार्जिलिंग घूमने की तैयारी।

अप्रैल से जून
जब उत्तर भारत समेत देश के अधिकांश हिस्सों में लू चल रही होती है उस समय पहाड़ों की रानी दार्जिलिंग में मौसम सुहाना होता है। अप्रैल से जून के बीच दार्जिलिंग में आने वाले पर्यटक मौसम में आए बदलाव को मिनटों में ही महसूस करने लगते हैं। इस दौरान दार्जिलिंग में बहुत ज्यादा गर्मी नहीं पड़ती औऱ मौसम सुहावना रहता है। गर्मी में भी दार्जिलिंग का औसत तापमान 25 डिग्री सेल्सिययस के आसपास ही रहता है। दिनभर शीतर हवा चलती रहती है और शाम सुहानी हो जाती हैं। यह मौसम साइटसीइंग, आउटडोर ऐक्टिविटीज का होता है।
अक्टूबर से मार्च
अक्टूबर तक दार्जिलिंग में मॉनसून खत्म हो चुका होता है और हल्की सर्दी शुरू हो जाती है। नवंबर के आखिरी सप्ताह से लेकर जनवरी दार्जिलिंग में हाड़ कंपाने वाली सर्दी होती है। औसत तापमान 5 डिग्री के आसपास रहता है। कभी कभी तापमान माइनस में भी चला जाता है और बर्फबारी होती है। गर्म कपड़ों के साथ इस मौसम में आप घूमने और साइटसीइंग का लुत्फ उठा सकते हैं। इस मौसम में यहां पूरे दिन आसमान साफ रहता है और धूप खिली रहती है लेकिन शाम और रात में सर्दी बहुत होती है।

कुल मिलाकर देखें तो अक्टूबर और नवंबर का महीना दार्जिलिंग में घूमने के लिहाज से सबसे श्रेष्ठ है। शरद ऋतु अपनी शबाब पर रहती है। ना बहुत ज्यादा सर्दी और ना ही गर्मी।

ऐसे जा सकते हैं दार्जिलिंग
नजदीकी एयरपोर्ट बागडोगरा 67 किलोमीटर दूर है। सडक़ मार्ग से आप एयरपोर्ट से दार्जिलिंग ढाई घंटे में पहुंच सकते हैं। इसके अलावा नजदीकी रेलवे स्टेशन न्यू जलपाइगुड़ी है जो यहां से 70 किलोमीटर दूर है और ढाई से तीन घंटे में रेलवे स्टेशन से दार्जिलिंग पहुंचा जा सकता है।

Paritosh Dube
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned