पुलिस ने स्वर्ण पदक बरामद कर शिक्षक को लौटाए

- शिमलगढ़ में शिक्षक के घर में सेंधमारी कर चोरी किया था राष्ट्रपति पुरस्कार

By: Rajendra Vyas

Published: 24 Dec 2020, 05:47 PM IST

हुगली. जिला ग्रामीण पुलिस की तत्परता की वजह से चोरी हुआ राष्ट्रपति पुरस्कार स्वर्ण पदक को बरामद कर लिया गया। हुगली जिले के पांडुआ थाना अंतर्गत शिमलगढ़ के स्थानीय निवासी एवं पेशे शिक्षक के घर चोरों ने सेंधमारी करके राष्ट्रपति से प्राप्त स्वर्ण पदक पर हाथ साफ किया था। शिमलागढ़ निवासी रजत रंजन घोषाल ने हुगली जिला ग्रामीण पुलिस को पुरस्कार वापस लौटने पर धन्यवाद देते हुए उनके कार्य की सराहना की।
दरअसल 29 नवंबर को रजत रंजन अपने भाई की शादी में शरीक होने दुर्गापुर गए थे। घर वापस लौटने पर रजत रंजन की आंखें फटी की फटी रह गई थी। उनके घर चोरी हुई थी। चोरों ने बेशकीमती सामान के साथ राष्ट्रपति पदक पर भी हाथ साफ किया था। उन्होंने पंडुआ पुलिस स्टेशन में इस घटना की लिखित शिकायत दर्ज कराई थी। शिकायत मिलने पर पांडुआ थाना पुलिस ने तुरंत जांच शुरू कर दी। पांच दिनों के भीतर ही पुलिस उन चोरों तक पहुंची। इसके बाद रजत रंजन के पदक बरामद किए गए। उन्होंने पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम और राज्य के पूर्व राज्यपाल गोपालकृष्ण गांधी से दो पदक प्राप्त किए। इसलिए ये दो पदक उनके लिए बहुत महत्वपूर्ण थे। आज सभी कानूनी औपचारिकता को पूरी करने के बाद रजत रंजन के स्वर्ण पदक उन्हें वापस लौटा दिए गए। इस कार्य के लिए उन्होंने पुलिस की सराहना की।

Rajendra Vyas
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned