पश्चिम बंगाल पुलिसकर्मियों की बेदम पिटाई...

कोलकाता का मौलाली इलाका बना रणक्षेत्र, यातायात प्रभावित, जान बचाकर रेस्तरां में छिपते दिखे पुलिसकर्मी

By: Ashutosh Kumar Singh

Updated: 15 Feb 2021, 10:52 PM IST

कोलकाता
डीवाईएफआई नेता मैदुल इस्लाम मिद्दा की मौत से भड़के वाममोर्चा के कार्यकर्त्ताओं ने सोमवार को कोलकाता में पुलिसकर्मियों की बेदम पिटाई की और कई पुलिसकर्मियों की वर्दी फाड़ी दी। हमला इतना उग्र था कि पुलिसकर्मियों को जान बचाकर भागनी पड़ी। 11 फरवरी को नवान्न अभियान के दौरान पुलिस की ओर से किए गए लाठीचार्ज में मैदुल बुरी तरह से घायल हुआ था। सोमवार को अस्पताल में उसकी मौत हो गई। इसके विरोध में वाममोर्चा और कांग्रेस के कार्यकर्त्ता सोमवार को मौलाली मोड़ पर सैकड़ों की संख्या में एकत्रित होकर सड़क जाम कर विरोध प्रदर्शन कर रहे थे। इन्हें हटाने पहुंचे पुलिस कर्मियों के साथ एक बार फिर धक्का-मुक्की और लाठीचार्ज की स्थिति बन गई, जिसके बाद वाममोर्चा और कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने दौड़ा-दौड़ा कर पुलिसकर्मियों को पीटा है। एक पुलिसकर्मी की वर्दी फाड़ दी गई है। उसे घसीट कर बाल खींचते और मारते पीटते हुए वीडियो भी सामने आया है।
इस भिड़ंत से मौलाली इलाका कुछ देर के लिए रणक्षेत्र में तब्दील हो गया। काफी देर तक यातायात ठप रहा।
विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं कार्यकर्ताओं का कहना है कि ममता बनर्जी की पुलिस ने उनके कार्यकर्ता की हत्या की है। उनका कहना था कि मुख्य्मंत्री ममता बनर्जी से आदेश मिलने के बाद राजनीतिक तौर पर उनके कार्यकर्ता को मौत के घाट उतारा गया है। विरोध प्रदर्शन करने वाले कार्यकर्ताओं ने एजेसी बोस रोड को भी बंद कर दिया है। हालात को काबू में करने के लिए पुलिस को कड़ी मशक्क्त करनी पड़ी।
समाचार लिखे जाने तक पुलिस की ओर से घायल पुलिसकर्मियों की संख्या और इस घटना के सम्बन्ध में की गई कार्रवाई के बारे में कुछ नहीं बताया गया था।

Ashutosh Kumar Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned