चुनाव बाद क्यों बंगाल में बढ़ रही है राजनीतिक हिंसा

चुनाव बाद क्यों बंगाल में बढ़ रही है राजनीतिक हिंसा

Manoj Kumar Singh | Updated: 27 May 2019, 07:08:12 PM (IST) Kolkata, Kolkata, West Bengal, India

  • तृणमूल कांग्रेस और भाजपा क्यों एक दूसरे लगा रहे हैं हिंसा कराने के आरोप

  • लोकसभा चुनाव नतीजा आने के बाद से पश्चिम बंगाल में राजनीतिक हिंसा दिन पर दिन बढ़ती जा रही है। राज्य में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के कार्यकर्ताओं के बीच हो रही हिंसा के कारण राज्य के विभिन्न इलाको में तनाव व्याप्त है

कोलकाता
लोकसभा चुनाव नतीजा आने के बाद से पश्चिम बंगाल में राजनीतिक हिंसा दिन पर दिन बढ़ती जा रही है। राज्य में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के कार्यकर्ताओं के बीच हो रही हिंसा के कारण राज्य के विभिन्न इलाको में तनाव व्याप्त है।
राज्य में राजनीतिक हिंस लोकसभा चुनाव से पहले ही शुरू हो गई थी। लेकिन 23 मई को चुनाव नतीजा आने के बाद ही भाजपा के कार्यकर्ता को गोली मार कर हत्या कर दी गई। एक अन्य घटना में बम लगने से एक किशोरी की मौत हो गई और राज्य के विभिन्न क्षेत्रों में हुई हिंसक घटना में दर्जनों घाटल है हुए हैं।
बंगाल में हिंसा की ताजा घटना में काकिनाडा में भाजपा कार्यकर्ता चंदन शाव को बम और गोली मार कर हत्या नहीं है। दक्षिण 24 परगना जिले के हरोआ क्षेत्र में एक किशोर लडक़ी की बम फेंककर हत्या कर दी गयी। इसके अलावा अलग-अलग जिलों में सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस और भाजपा के बीच हिंसा जारी है।
हिंसा की एक अन्य घटना में नादिया जिले में 22 वर्षीय सांटू घोष को नजदीक से गोली मारी गयी। श्री घोष अपने घर के बाहर दोस्तों से बात कर रहे थे। पुलिस ने एक संदिग्ध को हिरासत में लिया है। राज्यपाल केसरी नाथ त्रिपाठी ने लोगों से शांति एवं सौहार्द बनाए रखने की अपील की है। मालदा से प्राप्त एक रिपोर्ट के मुताबिक कल देर रात कुछ बदमाशों ने दो लीची व्यापारियों पर बम से हमला कर दिया जिसमें दोनों गंभीर रूप से घायल हो गये।
पुलिस उत्तर 24 परगना क्षेत्र के काकिनाड़ा में भाजपा कार्यकर्ता चंदन शॉ की निर्मम हत्या की जांच कर रही है। रविवार देर रात चंदन को पहले गोली मारी गयी उसके बाद उस पर देशी बम फेंके गये। बैरकपुर से भाजपा के नवनिर्वाचित सांसद अर्जुन सिंह ने इस हत्या के लिए तृणमूल कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराया है।
भाजपा सांसद के मुताबिक चंदन शॉ पर पहले देशी बमों से हमला किया गया, उसके बाद उनको नजदीक से गोली मारी गयी। पुलिस ने आज सुबह इस मामले में दो संदिग्ध लोगों को हिरासत में लिया है।
शपथ लेने से पहले अपने संबोधन में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी पश्चिम बंगाल में हो रही हिंसा का जिक्र किया और कहा कि वैचारिक मतभेद के कारण हत्या और हमले किए जाने को बड़ी समस्या कहा।
लेकिन तृणमूल कांग्रेस ने इन आरोपों से इनकार करते हुए इस हिंसा के लिए भाजपा के अंदरूनी कलह को जिम्मेदार ठहराया है। राज्य के शहरी विकास मंत्री और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के करीबी फिरहाद हकीम ने सोमवार को कहा कि भाजपा और प्रधानमंत्री झूठ बोल रहे हैं। राजनीतिक हिंसा में सबसे अधिक तृणमूल कांग्रेस के कार्यकत्र्ताओं की मौत हुई है। प्रधानमंत्री राष्ट्रीय देश भर में होने वाली हिंसा और उसमें मरने वालों के बात करें। बंगाल में क्या हो रहा है यह हमारी सरकार देखेगी, क्योंकि कानून-व्यवस्था राज्य का विषय है।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned