ममता बनर्जी के खिलाफ आपत्तिजनक पोस्ट  

ममता बनर्जी के खिलाफ आपत्तिजनक पोस्ट  
kolkata news

Shankar Sharma | Updated: 18 Oct 2016, 11:36:00 PM (IST) Kolkata, West Bengal, India

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के खिलाफ आपत्तिजनक पोस्ट को लेकर कलकत्ता विश्वविद्यालय की एमटेक की छात्रा राजश्री चट्टोपाध्याय बेहद डरी हुई है

कोलकाता. मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के खिलाफ आपत्तिजनक पोस्ट को लेकर कलकत्ता विश्वविद्यालय की एमटेक की छात्रा राजश्री चट्टोपाध्याय बेहद डरी हुई है। उसे तृणमूल कांग्रेस से जुड़ी स्थानीय महिलाओं की ओर से धमकियां भी मिल रही हैं। हालांकि छात्रा की सोशल साइट पोस्ट की निंदा करते हुए उसके घर के सामने लगाया गया फ्लेक्स सोमवार को हटा लिया गया। राजश्री ने अपने पोस्ट में महानगर के रेड रोड पर हुए पूजा कार्निवल को लेकर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के खिलाफ अशालीन टिप्पणी की थी।


इस टिप्पणी से नाराज होकर नागरिक समिति ने उसके घर के बाहर सोशल साइट के पोस्ट का फ्लेक्स बनाकर टांग दिया था। मामले के तूल पकडऩे के बाद सोमवार को फ्लेक्स हटा दिया गया। इससे पहले जादवपुर विश्वविद्यालय के प्रोफेसर अंबिकेश महापात्रा ने सोशल साइट पर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का कार्टून पोस्ट किया था, तो उन्हें जेल जाकर इसका खमियाजा भरना पड़ा था।

इस होर्डिंग को लगाने वाली समिति का मानना है कि अगर लोकतंत्र में इस लड़की को मुख्यमंत्री की आलोचना करने का अधिकार है, तो अन्य लोगों को भी इसी लोकतंत्र के चलते उसे सार्वजनिक रूप से लताडऩे का हक है।
होर्डिंग में कहा गया है कि हम मुख्यमंत्री की आलोचना की निंदा करते हैं।
 

मूर्तियों का जुलूस निकाले जाने पर नाराजगी
कलकत्ता यूनिवर्सिटी की इस छात्रा को देवी दुर्गा की मूर्तियों का जुलूस निकाले जाने पर नाराजगी थी, जिसकी अगवानी ममता ने शुक्रवार को खुद की थी, और इसे कोलकाता कार्निवल के रूप में प्रचारित किया गया था। छात्रा का मानना था कि यह यात्रा का सही समय नहीं है, क्योंकि इस वक्त राज्य बेरोजगारी और गरीबी की समस्याओं से जूझ रहा है, उसके कुछ मित्रों ने छात्रा से सहमति जताई, लेकिन कुछ इससे सहमत नहीं थे।

मामले ने पकड़ा तूल
बहरहाल, इस बात का पता नहीं चल पाया है कि होर्डिंग लगाने वाली समिति ने छात्रा के फेसबुक पेज तक पहुंच कैसे बनाई। स्थानीय निवासी दीपदास छात्रा के विचारों से कतई सहमत नहीं हैं। उन्होंने पलटकर सवाल किया कि छात्रा यह सब कैसे कह सकती है... खासतौर से तब, जब मुख्यमंत्री राज्य के लिए इतना कुछ कर रही हैं। तृणमूल कांग्रेस के स्थानीय पार्षद ए. मित्रा ने कहा कि छात्रा के पोस्ट की एक लाइन, जहां वह कहती है कि मुख्यमंत्री को नदी में डुबकी लगवाई जानी चाहिए, काफी अपमानजनक है, और इसी लाइन की वजह से मामले ने तूल पकड़ लिया।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned