Party Class: प्रशांत किशोर ने इस तरह पढ़ाया तृणमूल पार्षदों को सफलता का राज

लोकसभा चुनाव में भाजपा के हाथों हार का सामना करने वाली तृणमूल कांग्रेस का जनाधार मजबूत करने के अभियान में जुटे जाने माने राजनीतिक रणनीतिकार प्रशांत किशोर (पीके) ने शुक्रवार को पार्टी के पार्षदों की लंबी क्लास ली।

By: Prabhat Kumar Gupta

Published: 03 Jan 2020, 09:04 PM IST

कोलकाता.
लोकसभा चुनाव में भाजपा के हाथों हार का सामना करने वाली तृणमूल कांग्रेस का जनाधार मजबूत करने के अभियान में जुटे जाने माने राजनीतिक रणनीतिकार प्रशांत किशोर (पीके) ने शुक्रवार को पार्टी के पार्षदों की लंबी क्लास ली। माना जा रहा है कि पार्टी सुप्रीमो ममता बनर्जी के निर्देशानुसार ऐसा किया गया। उल्लेखनीय है कि तृणमूल कांग्रेस के स्थापना दिवस (०१ जनवरी) पर ममता ने स्थानीय नेताओं और कार्यकर्ताओं को नववर्ष पर पिकनिक पार्टी या अन्य कार्यक्रमों में समय नहीं गवां कर संगठन के लिए काम करने तथा जनसम्पर्क स्थापित करने की सख्त हिदायत दी है।

सूत्रों ने बताया कि पीके ने पार्षदों के साथ बैठक में स्पष्ट रूप से संकेत दे दिया कि निकाय चुनाव कभी भी कराए जा सकते हैं। इसके लिए अब समय जाया नहीं कर जनसम्पर्क अभियान में जुट जाने की नसीहत दी। हमारा एक और एकमात्र विकल्प जनसमर्थन हासिल करना है। पार्षदों के साथ सांगठनिक मुद्दों पर चर्चा के दौरान पीके ने कहा कि संगठन का काम ईमानदारी से करना पड़ेगा। गुटबाजी कर पार्टी का टिकट पाने की गलतफहमी में किसी को रहने की आवश्यकता नहीं है। जमीनीस्तर पर ‘दीदी के बोलो’ कार्यक्रम का जोरशोर से प्रचार करने की सलाह दी। इन्हीं उपलब्धियों के आधार पर पार्टी निगम चुनाव में उम्मीदवारों का चयन किया जाना है।
पार्षदों को इन बातों से दूर रहने की दी सलाह:
राजनीतिक रणनीतिकार पीके ने तृणमूल पार्षदों को निजी स्वार्थ के लिए पार्टी को नुकसान नहीं पहुंचाने, जनता के बीच अपनी साफ सुथरी छवि पेश करने, कीमती कार व सोने के चेन अथवा ब्रासलेट के इस्तेमाल से दूर रहने की सलाह दी। पार्षदों के संदर्भ में उन्होंने कहा कि बाहुबल के बदौलत चुनाव नहीं बल्कि अपनी साफ सुथरी छवि को और अधिक लोकप्रिय बनाएं। आम जनता के बीच अपनी हेकड़ी दिखाने के बजाय नमनीय भाव से जनसम्पर्क करना ही सफलता की सबसे बड़ी कुंजी होगी। पीके ने परोक्ष रूप से यह बता दिया कि पंचायत चुनाव और विधाननगर निगम चुनाव जैसे हालात पैदा करने की कोई आवश्यकता नहीं है।

Show More
Prabhat Kumar Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned