बंगाल के दो अधिकारियों से सवाल-जवाब

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा की सुरक्षा में चूक को लेकर आखिरकार केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने पश्चिम बंगाल सरकार के दो शीर्ष नौकरशाहों से शुक्रवार शाम सवाल जवाब किया। राज्य के मुख्य सचिव अलापन बंद्योपाध्याय और पुलिस महानिदेशक वीरेन्द्र आभासी बैठक के जरिए से अजय भल्ला के समक्ष पेश हुए।

By: Rabindra Rai

Published: 18 Dec 2020, 11:51 PM IST

सख्ती: जवाब से केंद्रीय गृह सचिव संतुष्ट नहीं
नड्डा की सुरक्षा में चूक को लेकर कठोर कदम संभव
कोलकाता. भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा की सुरक्षा में चूक को लेकर आखिरकार केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने पश्चिम बंगाल सरकार के दो शीर्ष नौकरशाहों से शुक्रवार शाम सवाल जवाब किया। राज्य के मुख्य सचिव अलापन बंद्योपाध्याय और पुलिस महानिदेशक वीरेन्द्र आभासी बैठक के जरिए से अजय भल्ला के समक्ष पेश हुए। दिल्ली से अजय भल्ला ने वीडियो कॉंफ्रेंस के जरिए इनसे नड्डा के काफिले पर हुए हमले के संबंध में पूछताछ की है। केंद्रीय गृह मंत्रालय के सूत्रों ने बताया है कि बंगाल के दोनों शीर्ष अधिकारियों के जवाब से अजय भल्ला संतुष्ट नहीं हैं और इस मामले में कठोर कदम उठाया जा सकता है।
--
सुरक्षा में कोताही क्यों बरती
भल्ला ने जानना चाहा कि आखिर जेपी नड्डा के काफिले की सुरक्षा में कोताही क्यों बरती गई? उन्होंने कहा कि नड्डा देश के शीर्षस्थ वीआईपी में हैं। उनकी सुरक्षा को लेकर विशेष तौर पर सावधानी बरती जाती है। राज्य के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने उनके काफिले पर हमले की आशंका भी जताई थी और बार-बार आगाह किया था। बावजूद इसके उनकी गाडिय़ों पर पथराव कैसे हुआ? बंगाल सरकार ने इस मामले में क्या कुछ कार्रवाई की है और क्यों ऐसी कोताही बरती गई जिससे उनकी जान को खतरा बना?
--
दावा, सुरक्षा की पुख्ता व्यवस्था
सूत्रों ने बताया कि राज्य के शीर्ष अधिकारियों ने अजय भल्ला को बताया है कि जेपी नड्डा के काफिले की सुरक्षा की पुख्ता व्यवस्था की गई थी। उनके काफिले में तय से अधिक संख्या में गाडिय़ां मौजूद थीं जिसके कारण अव्यवस्था हुई। दोनों शीर्ष अधिकारियों ने अजय भल्ला को आश्वस्त किया है कि बंगाल सरकार इस मामले को गंभीरता से ले रही है और हमलावरों के खिलाफ जांच जारी है।
--
किया था दिल्ली तलब
इन दोनों अधिकारियों को अजय भल्ला ने दिल्ली तलब किया था लेकिन बंगाल सरकार की ओर से चि_ी लिखकर कहा गया था कि कोरोनावायरस संकट को लेकर आपातकालीन बैठक होनी है जिसमें इन दोनों अधिकारियों का मौजूद रहना जरूरी है, इसीलिए वर्चुअल बैठक जरिए से वे भल्ला से वार्ता कर सकते हैं जिसे केंद्रीय गृह मंत्रालय ने स्वीकार कर लिया था। उसी के मुताबिक शाम यह बैठक हुई है।
--
प्रतिनियुक्ति पर बुलाया है तीन आईपीएस को
गृह मंत्रालय ने नड्डा के काफिले पर हमले को लेकर तीन आईपीएस अधिकारियों डायमंड हार्बर के एसपी भोलानाथ पांडे, दक्षिण बंगाल के एडीजी राजीव मिश्रा और प्रेसिडेंसी रेंज के डीआईजी प्रवीण कुमार त्रिपाठी को प्रतिनियुक्ति के लिए दिल्ली में बुलाया भी है। ये सभी अधिकारी उस वक्त प्रभारी थे, जब नड्डा के काफिले पर गत गुरुवार को हमला हुआ था। साथ ही केंद्र की प्रतिनियुक्ति रोकने की ममता सरकार के फैसले को खारिज कर दिया है। तीन आईपीएस अधिकारियों की दिल्ली में पोस्टिंग भी कर दी गई है।

Rabindra Rai Editorial Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned