बंगाल वासियों को उमस-तेज गर्मी से अगले 4 दिनों तक राहत मिलेगी

बंगाल वासियों को उमस-तेज गर्मी से अगले 4 दिनों तक राहत मिलेगी

Shishir Sharan Rahi | Updated: 04 Jun 2019, 03:13:46 PM (IST) Kolkata, Kolkata, West Bengal, India

कल से गति तेज, 7 तक जारी रहेगा वर्षा का दौर----मौसम विभाग ने कहा, बांग्लादेश और झारखंड के बीच बनी ट्रफ लाइन----1954 के बाद इस साल पहली बार मॉनसून पूर्व बारिश सबसे कम

कोलकाता/नई दिल्ली. बंगाल वासियों को उमस-तेज गर्मी से अगले 4 दिनों तक राहत मिलेगी। कोलकाता सहित दक्षिण बंगाल में सोमवार रात से ही कहीं-कहीं बारिश का दौर शुरू हो जाएगा और बुधवार से बारिश की गति तेज होगी जो शुक्रवार तक बनी रहेगी। इस बीच 1954 के बाद इस साल पहली बार मॉनसून पूर्व बारिश सबसे कम 99 मिलीमीटर हुई। अलीपुर मौसम विभाग ने सोमवार को इसकी पुष्टि की। मौसम विभाग की रिपोर्ट के अनुसार बांग्लादेश और झारखंड के बीच फिलहाल बनी ट्रफ लाइन के कारण बारिश होगी। पर वातावरण में आर्दता के ज्यादा होने के कारण उमस-गर्मी बरकरार रहेगी। दूसरी ओर उत्तर बंगाल के विभिन्न जिलों में पिछले कुछ दिनों से बारिश का दौर जारी है। उधर नई दिल्ली के मौसम विभाग की मानें तो अगले 5 दिनों तक उत्तर पश्चिमी भारत में बारिश के आसार बेहद कम हैं। अलग-अलग इलाकों के हिसाब से कहीं आंधी तो कहीं गर्म हवाएं चलती रहेंगी। लेकिन 5 दिनों बाद 8 से 10 जून के बीच बारिश होगी। पूर्वी पाकिस्तान के भागों पर एक कमजोर पश्चिमी विक्षोभ बना है, जिससे झारखंड, गंगीय बंगाल होते हुए मिजोरम तक ट्रफ रेखा फैली हुई है। इसके अलावा उप-हिमालयी बंगाल और सिक्किम के भागों पर एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बना है। बीते 24 घंटों के दौरान बंगाल, ओडिशा, कर्नाटक, केरल और तमिलनाडु के आंतरिक भागों में हल्की से मध्यम बारिश दर्ज की गई। आने वाले 24 घंटों के दौरान पूर्वोत्तर भारत, उप-हिमालयी सहित गांगेय बंगाल में हल्की से मध्यम बारिश के आसार हैं।

-----मॉनसून का आगमन 6 से
भारत में मॉनसून की आधिकारिक एंट्री केरल से 6 जून से प्रस्तावित है, जिसके बाद 8 तारीख को बंगाल, ओडिशाऔर केरल में अच्छी बारिश के आसार हैं। मौसम विभाग के मुताबिक 6 जून को मॉनसून केरल तट पर पहुंच सकता है। शुरुआती 10 दिनों में मॉनसूनी बारिश सामान्य से कम रह सकती है। इस साल केरल में मॉनसूनी बारिश देरी से होने के आसार हैं, जिसका असर पूरे देश पर पड़ेगा।

 

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned